'रिटायर्ड बैंककर्मियों का हक मार रही केंद्र सरकार'• एनबीटी संवाददाता, लखनऊ: आदर्श कोषागार कलेक्ट्रेट लखनऊ से पेंशन पा रहे रहे सभी पेंशनर्स की पेंशन व एरियर से आयकर की कटौती इस वित्तीय वर्ष की जानी है। सीटीओ संजय कुमार ने गुरुवार को बताया कि आयकर कटौती का विवरण सभी पेंशनर्स को 20 फरवरी तक कोषागार में जमा करना अनिवार्य है। इसके बाद दस्तावेज जमा नहीं किए जाएंगे। किसी पेंशनर ने दस्तावेज जमा नहीं किए तो फरवरी की पेंशन से आयकर की कटौती (टीडीएस) कोषागार अपने आप कर लेगा।

बेसिक के साथ राजधानी के 10 एडेड माध्यमिक स्कूलों ने भी रिटायर होने वाले शिक्षकों और कर्मचारियों की फाइलें नहीं भेजी हैं। डीआईओएस डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि इन स्कूलों के प्रबंधकों और प्रधानाचार्यों को फाइलें तत्काल भेजने के निर्देश दिए गए हैं।
चिनहट-7, माल-3, मलिहाबाद-4, सरोजनी नगर-1, मोहनलालगंज-7, काकोरी-9, बीकेटी-12, गोसाईगंज-7, नगर क्षेत्र-22
इलाहाबाद बैंक परिसर में आज करेंगे प्रदर्शन

कर्मचारियों की
खबरें शिक्षकों व• एनबीटी, लखनऊ 

राजधानी के बेसिक और माध्यमिक स्कूलों से मार्च में रिटायर होने वाले शिक्षकों को जीपीएफ और पेंशन के लिए परेशान होना पड़ सकता है। दरअसल, ज्यादातर स्कूलों से अभी तक शिक्षकों की पेंशन संबंधी फाइलें लेखा विभाग में नहीं भेजी गईं हैं, जबकि रिटायरमेंट के छह महीने पहले ही फाइलें भेजने का नियम है। ऐसे में लेखा विभाग ने खंड शिक्षा अधिकारियों को पत्र भेजकर एक सप्ताह में फाइलें भेजने के निर्देश दिए हैं।

आगामी 31 मार्च को इस बार प्राइमरी और जूनियर स्कूलों के 72 शिक्षक सेवानिवृत्त हो रहे हैं। बेसिक शिक्षा के वित्त एवं लेखाधिकारी नागेश कुमार त्रिपाठी के मुताबिक जो भी शिक्षक या कर्मचारी 31 मार्च को रिटायर होंगे, उनकी पेंशन संबंधी सभी प्रक्रिया छह महीने शुरू करने का नियम है, लेकिन अब तक राजधानी के किसी भी ब्लॉक से शिक्षकों की फाइल नहीं भेजी गई है। सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि एक सप्ताह में पेंशन संबंधी फाइलें भेजें।

...तो पेंशन के लिए भटकेंगे रिटायर्ड शिक्षक• एनबीटी संवाददाता, लखनऊ : रिटायर्ड बैंक कर्मचारियों ने केंद्र सरकार पर दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। गुरुवार को एसबीआई मुख्यालय में प्रेस वार्ता के दौरान रिटायर्ड कर्मचारियों ने कहा कि वेतन से जमा किए गए पैसों को केन्द्र सरकार पेंशन के रूप नहीं दे रही है। इसके लिए बैंक पेंशनर्स एवं रिटायरीज ऑर्गेनाइजेशन तथा ऑल इंडिया बैंक रिटायरीज फेडरेशन के सदस्य शुक्रवार को हजरतगंज स्थित इलाहाबाद बैंक परिसर में धरना-प्रदर्शन करेंगे। मीडिया प्रभारी अनिल तिवारी के मुताबिक इसके बाद भी मांगें पूरी नहीं की गईं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

बैंक रिटायरीज फेडरेशन के महासचिव दिनेश चंद्रा ने बताया कि 35 वर्ष से अधिक सेवा के बाद भी बैंक पेंशनरों की आर्थिक, स्वास्थ्य एवं सामाजिक स्थिति ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि जो पैसा बैंककर्मियों ने अपने वेतन से कटवाया उस पर करोड़ों रुपये का केवल ब्याज आता है, लेकिन इसमें भी केन्द्र सरकार कटौती कर अपनी जेब भर रही है। जबकि इस पैसे पर पेंशनरों का अधिकार है। 

प्रदेश महासचिव अतुल स्वरूप ने कहा कि केन्द्र सरकार की गलत नीतियों के कारण बैंक रिटायरीज आंदोलन की राह पर हैं।

Loading...