रवीश के रिजल्ट में 61, कॉपी पर 71 अंक, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से निकल रही कॉपियां अब भी गड़बड़ियों की ही दास्तां बयां कर रही

रवीश के रिजल्ट में 61, कॉपी पर 71 अंक, परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से निकल रही कॉपियां अब भी गड़बड़ियों की ही दास्तां बयां कर रही।

इलाहाबाद : परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय से निकल रही कॉपियां अब भी गड़बड़ियों की ही दास्तां बयां कर रही हैं। बस्ती के रवीश कुमार मिश्र रिजल्ट में 61 अंक पाकर फेल हो गए थे, अब स्कैन कॉपी डाक से उनके घर पहुंची तो उसमें 71 अंक लिखे मिले। रवीश इस बात को लेकर परेशान हैं जांच समिति ने रिजल्ट में अनुत्तीर्ण और कॉपी पर उत्तीर्ण जिन 51 अभ्यर्थियों का चयन किया है, उनमें उनका नाम है या नहीं? ये सवाल भी पूछ रहे हैं कि यदि है तो इसका रिजल्ट कब आएगा, हालांकि विभागीय अफसर इसका जवाब नहीं दे रहे हैं।


हाईकोर्ट ने गुरुवार को 68500 शिक्षक भर्ती के 24 अभ्यर्थियों को स्कैन कॉपी देने का निर्देश दिया था, उनमें से पांच अभ्यर्थियों शिवांगी शुक्ला, छाया, राजलक्ष्मी, अरुण कुमार सिंह व आशीष को ही कॉपी मिली है, शेष 19 अभ्यर्थी बैरंग लौट गए हैं।


अनूप सिंह ने बताया कि इन कॉपियों में एक अभ्यर्थी के सात प्रश्नों को जांचा ही नहीं गया है तो कई में कटिंग व ओवर राइटिंग पर भी अंक दिए गए हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी भले ही अभ्यर्थियों को स्कैन कॉपी डाक से घर भिजवाने का दावा कर रहा है लेकिन, ऐसे अभ्यर्थियों की संख्या बहुत कम है। अब भी बड़ी संख्या में युवा स्कैन कॉपी मिलने की राह देख रहे हैं। ज्ञात हो कि परीक्षा संस्था में करीब आठ हजार से अधिक आवेदन स्कैन पाने के लिए हो चुके हैं, उनको दो हजार रुपये का डिमांड ड्राफ्ट जमा करने के एक माह में कॉपी देने का निर्देश हुआ था।