यूपीटीईटी 2018 के लिए आज भी कर सकेंगे आवेदन, सर्वर धीमे चलने के कारण एक दिन की और बढ़ी समय सीमा 


■ 15 लाख से अधिक आवेदन पूरे
परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव अनिल भूषण चतुर्वेदी ने बताया कि टीईटी के लिए 22 लाख 77 हजार से अधिक पंजीकरण हुए हैं, जबकि सोमवार शाम छह बजे तक 15 लाख से अधिक ऑनलाइन आवेदन हो चुके हैं, इसके बाद भी पंजीकरण व आवेदन में करीब आठ लाख का फासला है। वेबसाइट धीमी होने के कारण यह समस्या आ रही है। इसीलिए अब मंगलवार शाम छह बजे तक परीक्षा शुल्क जमा करके आवेदन हो सकेगा। अभ्यर्थी बुधवार को आवेदन का प्रिंट आउट निकाल सकते हैं।


■ दोनों सर्वर धीमे चलने के कारण एक दिन की और बढ़ी समय सीमा
■ अंतिम आवेदन करने वाले बुधवार को निकाल सकेंगे प्रिंट

इलाहाबाद : यदि आप टीईटी 2018 के लिए पंजीकरण करा चुके हैं तो मंगलवार को भी परीक्षा शुल्क जमा करके ऑनलाइन आवेदन पूरा कर सकते हैं। परीक्षा नियामक प्राधिकारी सचिव ने आवेदन करने की समय सीमा एक दिन और बढ़ा दी है, क्योंकि आवेदन के लिए एनआइसी के दोनों सर्वर इतना धीमे चल रहे हैं कि पंजीकरण कराने वाले अभ्यर्थी अंतिम रूप से आवेदन नहीं कर पाए हैं। अब अभ्यर्थी बुधवार को आवेदन का अंतिम प्रिंट ऑनलाइन निकाल सकेंगे। हालांकि इसका इम्तिहान चार नवंबर को ही कराने की तैयारी है।


उप्र शिक्षक पात्रता परीक्षा यानि यूपी टीईटी 2018 के लिए इस बार ऑनलाइन पंजीकरण व आवेदन में अभ्यर्थी और अफसर दोनों खूब परेशान हुए। प्रक्रिया 17 सितंबर से शुरू होने के बाद आठ दिन तक सर्वर ठप रहा। किसी तरह बीते सप्ताह शुरू हुआ एक दिन बाद ही गति धीमी हो गई। इससे परीक्षा शुल्क व अंतिम रूप से आवेदन नहीं हो पा रहे थे। इसी को ध्यान में रखकर पंजीकरण व आवेदन की समय सीमा तीन दिन बढ़ाई गई। इसका लाभ भी अभ्यर्थियों को न मिलने पर शासन ने दो दिन पहले इसके लिए एक और वेबसाइट शुरू की यह भी एक दिन ही सही से चली फिर वह भी धीमी हो गई।

■ कार्यालय में दिन भर हंगामा, नारेबाजी : टीईटी की वेबसाइट सही से न चलने पर सोमवार को प्रदेश भर के अभ्यर्थियों ने दिन भर हंगामा और नारेबाजी की। उनका कहना था कि सर्वर इतना धीमा चल रहा है कि परीक्षा शुल्क जमा नहीं हो पा रहा, ऐसे में आवेदन पूरा कैसे करें। इसकी शिकायत मुख्यमंत्री कार्यालय तक की गई। पंजीकरण व आवेदन में बड़ा अंतर होने से शाम को अभ्यर्थियों के पक्ष में आवेदन की समय सीमा एक दिन बढ़ाने का निर्णय हुआ।