Sep 25, 2018

बेसिक शिक्षा परिषद सचिव से मांगा नियुक्ति पत्र, त्रुटियों को निवारण करते हुए अब तक नियुक्ति पत्र न जारी करने से उमड़ा अभ्यर्थियों का आक्रोश।

बेसिक शिक्षा परिषद सचिव से मांगा नियुक्ति पत्र, त्रुटियों को निवारण करते हुए अब तक नियुक्ति पत्र न जारी करने से उमड़ा अभ्यर्थियों का आक्रोश।

इलाहाबाद  :  बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में 68500 भर्ती के सभी चयनितों को अब तक नियुक्ति पत्र नहीं मिल सके हैं। प्रदेश भर के बड़ी संख्या में अभ्यर्थियों ने सोमवार को परिषद सचिव से नियुक्ति पत्र मांगा और मुख्यालय के सामने धरना-प्रदर्शन किया है। उनका कहना है कि कुछ जिलों की चयन समिति ने प्रकरणों का निस्तारण किया है लेकिन, अधिकांश नियुक्ति नहीं दे रहे हैं। 
शिक्षक भर्ती के वह चयनित अभ्यर्थी भी इन दिनों आंदोलित हैं, जिनका विभिन्न जिलों में चयन हो चुका है लेकिन, लिखित परीक्षा के आवेदन फार्म में नाम, पिता का नाम, अनुक्रमांक, प्राप्तांक व पूर्णाक आदि भरने में गलती कर दी है। अधिकांश जिलों में ऐसे अभ्यर्थियों का चयन कर लिया गया है लेकिन, उनके अभिलेख मेल न खाने से नियुक्ति पत्र वितरित नहीं हो सका है। पिछले दिनों कई बीएसए ने इस संबंध में परिषद सचिव से मार्गदर्शन मांगा था, सचिव रूबी सिंह ने इस संबंध में शासन को पत्र भेजकर निर्देश देने का अनुरोध किया था।
अब तक शासन की ओर से स्पष्ट आदेश जारी नहीं हुआ है। इससे नाराज अभ्यर्थी सोमवार को फिर परिषद मुख्यालय पर इकट्ठा हुए और सचिव से नियुक्ति पत्र मांगा, उन्होंने कहा कि शासन इस संबंध में जल्द आदेश जारी करेगा। अभ्यर्थियों ने बताया कि पूर्व सचिव संजय सिन्हा के निर्देश पर मथुरा व कुशीनगर आदि कई जिलों में जिला चयन समिति ने ऐसे प्रकरणों का निस्तारण करके साथियों को नियुक्ति पत्र वितरित कर दिया है लेकिन, बाकी बीएसए ऐसा नहीं कर रहे हैं। 
अभ्यर्थियों ने यह भी कहा कि मानवीय भूल क्या सिर्फ सरकारी मुलाजिम ही कर सकते हैं, यदि उनसे गलती हो गई है तो उसमें सुधार करके नियुक्ति दी जानी चाहिए। इस कार्य से न तो चयन प्रक्रिया प्रभावित हो रही है और न ही मेरिट पर अंतर पड़ रहा है।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|