Sep 1, 2018

पुरानी पेंशन न मिली तो रैली निकालेंगे कर्मचारी-शिक्षक, शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन काम ठप करते हुए नई पेंशन योजना का जताया विरोध


लखनऊ : पुरानी पेंशन योजना फिर से लागू करने की मांग कर रहे राज्य कर्मचारियों व शिक्षकों ने शुक्रवार को लगातार तीसरे दिन काम ठप करते हुए नई पेंशन योजना का विरोध जताया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन भेजकर पुरानी व्यवस्था लागू करने की मांग के साथ ही उन्होंने नई पेंशन योजना की प्रतियां भी फूंकीं। कर्मचारियों व शिक्षकों ने सरकार द्वारा जल्द निर्णय न लिए जाने पर आठ अक्टूबर को लखनऊ में फिर रैली करने की चेतावनी दी है।1राज्य कर्मचारियों व शिक्षकों के विभिन्न संगठनों के गठित शिक्षक, कर्मचारी, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच ने तीन दिवसीय कार्य बहिष्कार के अंतिम दिन शुक्रवार को सभी जिला व तहसील मुख्यालयों पर सभा की और नई पेंशन योजना की प्रतियां जलाईं। लखनऊ में कर्मचारी नेता बीएन सिंह की प्रतिमा पर एकत्र हुए कर्मचारियों व शिक्षकों ने यहां सभा की और बारिश के बावजूद जिलाधिकारी कार्यालय तक रैली निकाल कर प्रधानमंत्री व मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा। मंच के संयोजक व राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद के अध्यक्ष हरिकिशोर तिवारी ने आरटीओ, राजस्व, कोषागार, कर एवं निबंधन, आबकारी और वाणिज्य कर सहित अन्य विभागों में कार्य बहिष्कार के कारण करीब एक हजार करोड़ रुपये की राजस्व वसूली प्रभावित होने का दावा किया है।1तिवारी ने नई पेंशन योजना को कर्मचारियों के साथ धोखा करार देते हुए कहा कि देश में दोहरी पेंशन व्यवस्था लागू कर संविधान की हत्या का प्रयास किया गया है।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|