Sep 3, 2018

शिक्षक भर्ती: 6127 अभ्यर्थियों की नियुक्ति का रास्ता साफ, वेबसाइट पर दूसरी सूची जारी, समयसीमा बढ़ी


ऐसे जारी हुई दूसरी सूची : बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने बताया कि 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती के लिए आयोजित लिखित परीक्षा में उत्तीर्ण हुए 41556 अभ्यर्थियों में 6136 अभ्यर्थियों में से नौ ऐसे थे जिन्होंने जिलों का विकल्प ऐसा दिया जहां पद नहीं थे। बाकी 6127 अभ्यर्थियों की काउंसिलिंग के लिए दूसरी सूची जारी कर दी गई है।

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापकों की भर्ती की चयन सूची से बाहर हुए 6127 अभ्यर्थियों को राहत देते हुए बेसिक शिक्षा विभाग ने रविवार को उन्हें काउंसिलिंग के लिए जिले आवंटित कर दिये हैं। इन अभ्यर्थियों की सहूलियत को देखते हुए बेसिक शिक्षा विभाग ने काउंसिलिंग की समय सीमा बढ़ाते हुए चार सितंबर कर दी है। पहले काउंसिलिंग की अंतिम तारीख तीन सितंबर तय की गई थी।

चयन सूची से छूटे हुए छह हजार से अधिक अभ्यर्थियों को जिला आवंटित करने के लिए रविवार को छुट्टी के दिन भी राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केंद्र (एनआइसी) में मशक्कत हुई। दिन भर चली कवायद के बाद देर शाम अभ्यर्थियों को जिले आवंटित कर दिए गए। अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा डॉ.प्रभात कुमार ने बताया कि जिन 6127 अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग के लिए जिले आवंटित किये गए हैं, उनकी अनंतिम चयन सूची उप्र बेसिक शिक्षा परिषद की वेबसाइट पर जारी कर दी गई है। अनंतिम चयन सूची में शामिल अभ्यर्थी अपने आवश्यक अभिलेखों सहित आवंटित जिलों में तत्काल जाकर तीन और चार सितंबर को काउंसिलिंग में भाग लें। बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव संजय सिन्हा ने बताया कि काउंसिलिंग में शामिल न होने पर अभ्यर्थी के अभ्यर्थन पर विचार नहीं किया जाएगा।

चयन सूची से बाहर हुए अभ्यर्थियों ने शनिवार से ही बेसिक शिक्षा निदेशक कार्यालय परिसर पर धरना प्रदर्शन शुरू कर दिया था। हालांकि बेसिक शिक्षा विभाग की ओर से शनिवार रात ही अभ्यर्थियों को यह स्पष्ट कर दिया गया था कि चयन सूची से छूटे अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग में शामिल होने के लिए रविवार को जिले आवंटित कर दिए जाएंगे। इसके लिए एनआइसी कार्यालय को रविवार को खोलने का निर्देश दिया गया था। अपर मुख्य सचिव बेसिक शिक्षा ने शनिवार को ही अभ्यर्थियों से अपील की थी कि अर्हता पूरी रखने वालों को नियुक्त कराने का जब आश्वासन दिया जा चुका है, तब प्रदर्शन या आंदोलन करने की जरूरत नहीं है। 1मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी इस मामले की जांच करने का निर्देश दिया था। बावजूद इसके अभ्यर्थी बेसिक शिक्षा निदेशक कार्यालय में रविवार को भी डटे रहे।

काउंसिलिंग के लिए जिले आवंटित, सूची वेबसाइट पर जारी, समयसीमा बढ़ी, चार सितंबर तक करा सकेंगे काउंसिलिंग

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|