Aug 10, 2018

Fatehpur : पुरानी पेंशन बहाली को गरजे कर्मचारी, शिक्षक- कर्मचारियों ने प्रदर्शन कर मांगी पुरानी पेंशन

फतेहपुर : बुढ़ापे की लाठी को दोबारा पाने के लिए सरकारी कर्मचारियों ने गुरुवार को नहर कॉलोनी मैदान में आंदोलन का बिगुल फूंक दिया। विभिन्न विभागों के कर्मचारी संगठनों के बैनरों के नीचे सरकार पर हमला किया। कहा, नौकरी करके जीवन खपाने वाले कर्मचारी-शिक्षक-अधिकारी को पेंशन देने में कदम पीछे खींच रही है, लेकिन माननीयों को पेंशन देने में दिल खोले हुए है। दोहरा मापदंड कतई स्वीकार नहीं करेंगे, हम पुरानी पेंशन पाने के लिए हर संघर्ष का रास्ता अख्तियार करेंगे। धरना एवं जनसभा के बाद कलेक्ट्रेट पहुंच कर सीएम को ज्ञापन भेजा गया।

कर्मचारी, शिक्षक, अधिकारी पुरानी पेंशन बहाली मंच उप्र के बैनर तले जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, सह संयोजक विनोद कुमार श्रीवास्तव, संयोजक अशोक सिंह के संयोजकत्व में धरना देकर सीएम को ज्ञापन भेजा गया। एक अप्रैल 2005 के उपरांत राजकीय सेवा में आए मुलाजिमों को पेंशन से वंचित कर दिया गया है। पुरानी पेंशन बहाली के लिए पूर्व शिक्षक विधायक लवकुश कुमार मिश्र एवं प्रांतीय पर्यवेक्षक भरत लाल अवस्थी ने एनपीएस पेंशन को अस्वीकार कर दिया। इस मौके पर शिक्षक नेता विजय त्रिपाठी, अनुराग मिश्र, गोली सिंह, बलराम सिंह चौहान, लाल देवेंद्र सिंह, सरफराज हुसेन, हरिशंकर शुक्ला, राजकुमार श्रीवास्तव, होरीलाल त्रिपाठी, राजेंद्र शुक्ला, करुणा शंकर मिश्र, निधान सिंह यादव आदि रहे।

नए-पुराने की आपसी कसक भी झलकी: आंदोलन में कंधे से कंधा मिलाकर साथ देने का वादा भर कर आए शिक्षक-कर्मचारियों में दिल की टीस दिखाई दी। माइक पाया तो दिल की भड़ास निकाल कर रख दी। कर्मचारी संगठन पर लगाए गए आरोपों को जिले के नेताओं ने साफ कर दिया हर संगठन ने इस लड़ाई को समय समय पर उठाया है। इसलिए इन बेवजह की बातों में पड़ने के बजाए संघे शक्ति सर्वदा की भावना रखकर काम करें।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|