Aug 29, 2018

सीटीईटी में आवेदन से बड़ी संख्या में बीएड अभ्यर्थी वंचित, सर्वर धीमा रहने से साइट ने दिया धोखा

सीटीईटी में आवेदन से बड़ी संख्या में बीएड अभ्यर्थी वंचित, सर्वर धीमा रहने से साइट ने दिया धोखा

इलाहाबाद : सीबीएसई की ओर से प्रस्तावित सीटीईटी (केंद्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा) में इलाहाबाद हाईकोर्ट से राहत पाकर चहके बीएड धारकों को वेबसाइट ने धोखा दे दिया। महज तीन दिनों के लिए वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन का मौका मिला लेकिन, अधिक लोड के चलते सर्वर धीमा रहा और बड़ी संख्या में अभ्यर्थी आवेदन ही नहीं कर सके। अभ्यर्थियों ने आवेदन की तारीख बढ़ाए जाने की मांग की है।

सीबीएसई ने पहले जारी अपने बुलेटिन में सीटीईटी के लिए बीएड को अर्हता में मान्य नहीं किया था, जबकि एनसीटीई यानि राष्ट्रीय अध्यापक शिक्षा परिषद ने बीएड डिग्री को शिक्षक पात्रता परीक्षा के लिए मान्य किया है। इस आधार पर याचिका दाखिल होने पर इलाहाबाद हाईकोर्ट ने 24 अगस्त को बीएड डिग्री धारकों को राहत दी थी।

जिसके अनुपालन में सीबीएसई ने अपनी वेबसाइट पर बीएड डिग्री धारकों से भी परीक्षा में शामिल होने के लिए आवेदन मांगे। इस पर लाखों अभ्यर्थियों ने ऑनलाइन आवेदन शुरू किए। जिससे वेबसाइट पर सर्वर अधिक लोड के चलते धीमा हो गया और तमाम अभ्यर्थी आवेदन नहीं कर सके हैं। अभ्यर्थियों का कहना है कि 27 अगस्त की रात 10 बजे के बाद वेबसाइट ठप ही हो गई।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|