Aug 5, 2018

सरकारी स्कूल, कान्वेंट सी सुविधाएं': हेड मास्टर ने स्कूल के शिक्षकों के साथ मिलकर विद्यालय की बदल दी सूरत


लखनऊ: अगर आपकी इच्छाशक्ति प्रबल है तो कोई भी काम नामुमकिन नहीं होता। जी हां काकोरी के पूर्व माध्यमिक विद्यालय कठिंगरा के हेड मास्टर शाहिद अली आब्दी ने स्कूल के शिक्षकों के साथ मिलकर इसकी सूरत बदल दी। वर्ष 2012 तक जिस स्कूल के परिसर में आवारा पशु डेरा जमाए रहते थे और हर तरफ गंदगी रहती थी। वहां आज हर तरफ हरियाली है और विद्यार्थियों को कान्वेंट स्कूल जैसी सुविधाएं मिल रही हैं। 1हेड मास्टर शाहिद अली आब्दी कहते हैं कि विद्यालय में एक बहुराष्ट्रीय कंपनी की मदद से पांच कम्प्यूटर व प्रोजेक्टर की व्यवस्था की गई है। यहां हर क्लास में पंखे लगे हैं और फर्नीचर भी है। अभी हाल ही में बीएसए कार्यालय के लिपिक नागेंद्र भूषण ने तीन झूले लगवाए हैं और पहले वह बच्चों को निश्शुल्क स्वेटर भी दे चुके हैं। आदर्श शौचालय यहां बनाया गया है और स्कूल में रंगाई-पोताई के साथ-साथ ग्राम प्रधान मोहम्मद रिजवान ने टाइल्स भी लगवाई है। वह कहते हैं कि जो स्कूल कभी गंदा रहता था उसे गांव के लोगों व समाज की मदद से एक अच्छे स्कूल में तब्दील किया गया। सभी ने श्रमदान कर स्कूल में पौधरोपण करवाया और गंदगी दूर की। अब शिक्षक सरहत सुल्तान, एसपी वर्मा, मनोरमा, विमल कुमार यहां विद्यार्थियों को कौशल विकास की ट्रेनिंग भी दे रहे हैं। यहां गमलों को पेटिंग कर उसे आकर्षक बनाना और कम्प्यूटर का बेसिक ज्ञान दिया जा रहा है। हेड शाहिद अली आब्दी कहते हैं कि अगर आप बदलाव की ठान लें तो कुछ भी कर सकते हैं। समाज में आज भी ऐसे बहुत लोग मिल जाएंगे जो आपकी आगे बढ़कर मदद करेंगे। आज पूरे गांव में यह भाव है कि ये स्कूल उनके बच्चों के भविष्य को बनाने का महत्वपूर्ण स्थान है और ये जैसे चमकेगा वैसे ही बच्चे भी होनहार बनेंगे। कहते हैं कि यह स्कूल दूसरों के लिए रोल माडल बन गया है।पूर्व माध्यमिक विद्यालय कठिंगरा के बच्चे करते हैं कंप्यूटर पर काम’ हेड मास्टर शाहिद अली ने बदली पूर्व माध्यमिक स्कूल कठिंगरा की सूरत

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|