उच्चतर आयोग पहली बार कराएगा शिक्षक भर्ती को लिखित परीक्षा


इलाहाबाद : अशासकीय महाविद्यालयों में असिस्टेंट प्रोफेसर की भर्ती लिखित परीक्षा उप्र उच्चतर शिक्षा सेवा चयन आयोग यानी यूपी एचईएससी पहली बार खुद कराएगा। पहली बार यह इम्तिहान कराने को अफसर बड़ी चुनौती मान रहे हैं। 1 यूपी एचईएससी के विज्ञापन 46 से पहली बार लिखित परीक्षा हो चुकी है लेकिन, उसे कानपुर यूनिवर्सिटी के माध्यम से कराया गया था, ऐसे ही विज्ञापन 47 के तहत परीक्षा भी अपने बल पर कराने की तैयारी हो रही है। इसके लिए नए सिरे से प्रश्न बैंक तैयार किया जा रहा है लेकिन, पाठ्यक्रम पहले जैसा रखने के आसार हैं। उच्च शिक्षा सेवाओं में असिस्टेंट प्रोफेसर के चयन के लिए परीक्षा ‘जीरो एरर’ यानी त्रुटि हीन और गुणवत्तापूर्ण कराना यूपी एचईएससी के लिए भी परीक्षा के समान है। यूपी एचईएससी की ओर से विज्ञापन 47 के तहत असिस्टेंट प्रोफेसर के 35 विषयों में 1150 रिक्त पदों पर आवेदन 2016 में ही लिए जा चुके हैं। इसकी लिखित परीक्षा नवंबर में प्रस्तावित है। जिसके लिए तैयारी शुरू की जा चुकी है। लिखित परीक्षा हालांकि दूसरी बार हो रही है लेकिन, यूपी एचईएससी अपने बलबूते इसे पहली बार कराने जा रहा है। विशेषज्ञों से प्रश्न बैंक तैयार कराने के अलावा यूपी एचईएससी इसका पाठ्यक्रम विज्ञापन 46 के अनुसार ही रखने के प्रयास में है। यूपी एचईएससी की सचिव वंदना त्रिपाठी का कहना है कि अपने संसाधन बनाए जा रहे हैं।