Aug 6, 2018

शिक्षामित्रों को मिले पूर्ण शिक्षक का दर्जा, यूपी सरकार पर ध्यान न देने का आरोप लगाते हुए शिक्षामित्रों ने दिया भाजपा कार्यालय में धरना और ज्ञापन

लखनऊ : शिक्षामित्रों को पूर्ण शिक्षक का दर्जा देने और आरटीई एक्ट-2009 के विधिक पहलू पर शिक्षामित्रों के पक्ष में पैरवी करने समेत कई मांगों को लेकर रविवार को शिक्षामित्रों ने भाजपा मुख्यालय के सामने धरना दिया। आम शिक्षक, शिक्षामित्र एसोसिएशन की प्रदेश अध्यक्ष उमा देवी के नेतृत्व में हुए धरने के उपरांत एसोसिएशन की ओर से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नाथ पांडेय के माध्यम से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ज्ञापन भी प्रेषित किया गया।

उमा देवी ने कहा कि इको गार्डन में महिलाओं ने अपना मुंडन करवाया। इसके बावजूद सरकार ध्यान नहीं दे रही। भाजपा के मंत्री, विधायक और सांसद से लेकर वरिष्ठ कार्यकर्ताओं से मिलकर गुहार लगाई गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। समय रहते सरकार ने ध्यान नहीं दिया तो शिक्षामित्र देशव्यापी आंदोलन करने को मजबूर होंगे। 

एक महीने की भूख हड़ताल के बावजूद सरकार नहीं जाग रही है। 26 जून को 101 शिक्षामित्रों ने अपना जनेऊ त्यागा तो 25 जुलाई को 63 महिलाओं समेत 450 शिक्षामित्रों ने सामूहिक मुंडन कराकर विरोध दर्ज कराया। इसके बावजूद सरकार उन्हें समायोजित करने पर विचार नहीं कर रही है।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|