Aug 21, 2018

शिक्षक पद पर नियुक्ति को ऑनलाइन आवेदन आज से, आवेदन में जन्म तारीख व मोबाइल नंबर का होगा प्रयोग

शिक्षक पद पर नियुक्ति को ऑनलाइन आवेदन आज से, आवेदन में जन्म तारीख व मोबाइल नंबर का होगा प्रयोग

■ नियुक्ति प्रक्रिया
●  1. ऑनलाइन आवेदन - 21 अगस्त
●  2. अंतिम तारीख - 28 अगस्त
●  3. आवेदन बाद डाटा प्रोसेसिंग व जिला आवंटन - 31 अगस्त
●  4. जिलों में काउंसिलिंग  -एक से तीन सितंबर
●  5. नियुक्ति पत्र निर्गत - पांच सितंबर


सभी जिलों के लिए एक आवेदन मान्य
नियुक्ति पाने के लिए अभ्यर्थियों को मात्र एक ऑनलाइन आवेदन पत्र भरना होगा, जिसमें वह प्रदेश भर के विभिन्न जिलों में तैनाती के लिए वरीयता का निर्धारण भी करेंगे। अभ्यर्थियों का गुणांक, भारांक व वरीयता के लिए चयनित जिलों में रिक्तियों को देखते हुए उन्हें जिले का आवंटन किया जाएगा। वह तय तारीखों में काउंसिलिंग करा सकेंगे। अर्ह मिलने पर उसी जिले में नियुक्ति दी जाएगी।


आवेदन में जन्म तारीख व मोबाइल नंबर का होगा प्रयोग
इलाहाबाद : परिषदीय स्कूलों में 41556 सहायक अध्यापकों को नियुक्ति देने के लिए ऑनलाइन आवेदन मंगलवार से होंगे। भर्ती की लिखित परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को आवेदन अपना नाम, पिता का नाम या फिर अन्य शैक्षिक ब्योरा नहीं देना होगा। आवेदन में लिखित परीक्षा का अनुक्रमांक, जन्म तारीख व मोबाइल नंबर का प्रयोग होगा। वेबसाइट पर यह दर्ज करते ही अभ्यर्थी को मोबाइल पर ओटीपी यानि वन टाइम पासवर्ड मिलेगा, जिसे भरने पर उसे आवेदन पत्र दिखेगा व वांछित सूचनाएं दर्ज करेंगे।



बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों के लिए 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा का परिणाम 13 अगस्त को जारी हुआ। इसमें 41556 अभ्यर्थी सफल हुए। शासन ने उन्हें नियुक्ति देने को कार्यक्रम 18 अगस्त को जारी किया। परिषद ने इस संबंध में विज्ञापन निर्गत कर दिया है। इसमें कहा गया है कि ऑनलाइन ई-आवेदन पत्र का प्रारूप, आवश्यक निर्देश व जिलावार रिक्तियों का विवरण वेबसाइट (न्यूज़ इमेज देखें) पर 21 अगस्त अपरान्ह से 28 अगस्त शाम पांच बजे तक भरा जा सकेगा।


अभ्यर्थियों की ओर से लिखित परीक्षा के लिए भरे गए आवेदन पत्र पर ही नई सूचनाएं ली जाएंगी। केवल अन्य कॉलम पूर्ण करना है। अभ्यर्थी इसे पूरे मनोयोग से भरे, क्योंकि एक बार आवेदन पत्र पूर्ण करने के बाद उसमें संशोधन नहीं कर सकेंगे।

■ चयनितों का अंतर जिला तबादला नहीं : परिषद सचिव ने स्पष्ट किया है कि 41556 अभ्यर्थियों को जिस जिले में तैनाती मिलेगी उनका अंतर जिला यानी दूसरे जिले में तबादला नहीं होगा। काउंसिलिंग में अभ्यर्थियों को सचिव उप्र बेसिक शिक्षा परिषद इलाहाबाद के पदनाम से निर्धारित आवेदन शुल्क का बैंक ड्राफ्ट लेकर प्रतिभाग करना होगा। सामान्य व ओबीसी को 500, एससी व एसटी को 200 और दिव्यांग को कोई शुल्क नहीं देना है।

■ भर्ती के एक तिहाई पद विशेष जिलों को आवंटित
इलाहाबाद : विकास में पीछे छूटे प्रदेश के आठ जिलों पर बेसिक शिक्षा महकमा पूरी तरह से मेहरबान हो गया है। परिषदीय स्कूलों की 41556 सहायक अध्यापकों की भर्ती के एक तिहाई 13920 पद इन्हीं जिलों को आवंटित किए गए हैं।


शासन के निर्देश पर परिषद मुख्यालय ने इन जिलों को पूर्व में आवंटित कुल पदों में 80 प्रतिशत की बढ़ोतरी की है। वहीं, भर्ती के दो तिहाई 27636 पदों को प्रदेश के अन्य 67 जिलों में बांट दिया है। इससे कई जिलों का आवंटन पूरी तरह से बदल गया है। अब अभ्यर्थियों ने नए पदों के अनुरूप ही वरीयता देनी होगी। केंद्र सरकार ने देश के 115 जिलों को एस्पिरेशनल जिला यानी विकास में पिछड़ा घोषित किया है, इन जिलों में तेजी से विकास कार्य कराने के प्रयास हो रहे हैं।

एस्पिरेशनल जिला फतेहपुर में 2000, चंदौली में 1520, सोनभद्र में 1760, सिद्धार्थ नगर में 1840, चित्रकूट में 1040, बलरामपुर में 1600, बहराइच में 2720 और श्रवस्ती में 1440 पद आवंटित हुए हैं। गाजियाबाद जिले को सिर्फ पांच पद ही मिले हैं। पहले जौनपुर, सीतापुर व हरदोई जिले को दो-दो हजार पद आवंटित हुए थे और ये जिले पदों के लिहाज से ऊपर थे। अब सर्वाधिक पद वाला जिला बहराइच हो गया है।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|