Aug 17, 2018

अशासकीय माध्यमिक स्कूलों में प्रधानाचार्यो का चयन जल्द, साथ शिक्षकों के रिक्त पदों की भरपाई के लिए एक माह के भीतर नया विज्ञापन जारी किए जाने की मांग की


इलाहाबाद : सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में प्रधानाचार्य पदों पर भर्ती ठप होने से नौनिहालों की शिक्षा व शिक्षण कार्य पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। 90 फीसद पद रिक्त पड़े हैं और माध्यमिक शिक्षा सेवा चयन बोर्ड भर्तियों के प्रति उदासीन है। इसको लेकर दावेदारों ने चयन बोर्ड अध्यक्ष से कहा है कि 2011 का परिणाम घोषित किए जाने के लिए कोर्ट में पैरवी करे और 2013 के विज्ञापन के तहत साक्षात्कार की तारीखें 15 दिनों में घोषित की जाएं।
अभ्यर्थियों के एक प्रतिनिधि मंडल ने डा. निरंजन सिंह की अगुआई में संबंध में चयन बोर्ड के अध्यक्ष बीरेश कुमार से मुलाकात की। उन्हें ज्ञापन देकर स्कूलों में आने वाली समस्याओं के साथ अपनी मांग को भी प्रमुखता से रखा। कहा गया कि 2011 में जारी प्रधानाचार्य पद के लिए विज्ञापन के आधार पर जो चयन परिणाम निकला वह इलाहाबाद हाईकोर्ट में लंबित है। इसके निस्तारण के लिए उचित पैरवी की जाए। 2013 में विज्ञापित पदों पर साक्षात्कार कराने तथा शैक्षणिक सत्र 2018-19 में सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में रिक्त पदों की भरपाई के लिए एक माह के भीतर नया विज्ञापन जारी किए जाने की मांग की। इस अवसर पर डा. जय प्रकाश, डा. राजेश सिंह, डा. आरके मिश्र, डा. पवन तिवारी आदि शामिल रहे।

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|