68500 सहायक अध्यापक भर्ती का रिजल्ट व नियुक्ति की तैयारियां तेज, उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच की प्रक्रिया लगभग पूरी

■ उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच की प्रक्रिया लगभग पूरी

■ लिखित परीक्षा में सफल होने वालों को जल्द दिलाई जाएगी नियुक्ति

इलाहाबाद : परिषदीय प्राथमिक स्कूलों में 68500 सहायक अध्यापक भर्ती की लिखित परीक्षा का घोषित होगा। उत्तर पुस्तिकाओं की दोबारा जांच लगभग पूरी हो गई है, अब शासन के तय कटऑफ के अनुरूप परिणाम को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सूत्रों की मानें तो परिणाम अब किसी भी समय जारी हो सकता है। 1बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक स्कूलों की शिक्षक भर्ती की परीक्षा 27 मई को हुई थी। उस समय रिजल्ट 30 जुलाई तक घोषित करने की तैयारी थी लेकिन, मूल्यांकन मैनुअल होने व प्रश्न अति लघु उत्तरीय होने से इसमें समय लगा।

परीक्षा नियामक प्राधिकारी कार्यालय टीईटी आदि का परिणाम तय समय पर देता रहा है, क्योंकि उसमें ओएमआर स्कैन कराकर रिजल्ट बनता था लेकिन, इस प्रक्रिया में एक-एक प्रश्न का मूल्यांकन हो और अंत में अंक सही से जोड़े जाए, इसको ध्यान में रखकर सभी कॉपियों की दोबारा जांच हुई। यही नहीं पहले 21 मई के शासनादेश के अनुरूप रिजल्ट बन रहा था, बाद में शासन ने हाईकोर्ट के निर्देश पर कटऑफ अंक बदल दिए हैं, इससे अंतिम परिणाम में बड़ा बदलाव हो गया है।

परीक्षा नियामक कार्यालय जिस तरह से शिक्षक भर्ती का परिणाम देने में जुटा है, उसी तरह से बेसिक शिक्षा परिषद उत्तीर्ण अभ्यर्थियों को जल्द नियुक्ति दिलाने के लिए अभी से योजना बनाना शुरू कर दिया है। आवेदन का प्रारूप और नियुक्ति की वेबसाइट बनवाने व बेसिक शिक्षा अधिकारियों को निर्देश देने जैसी तैयारियां चल रही हैं। परिषद शासन की मंशा के अनुरूप जल्द नियुक्ति दिलाएगा।

■ लिखित परीक्षा में सफल होने वालों को जल्द दिलाई जाएगी नियुक्ति

कटऑफ बदलने का विरोध भी शुरू : एक ओर शिक्षक भर्ती का रिजल्ट आने जा रहा है, वहीं दूसरी ओर कई अभ्यर्थी एकाएक उत्तीर्ण प्रतिशत बदलने का विरोध कर रहे हैं। अभ्यर्थी अखिलेश यादव, संजीव गौतम, शशिकांत पटेल आदि का कहना है कि 21 मई को शासन ने 30 व 33 फीसदी उत्तीर्ण प्रतिशत तय किया था, उन लोगों ने उसी को ध्यान में रखकर इम्तिहान दिया।

अब रिजल्ट के मौके पर उत्तीर्ण प्रतिशत बदलना ठीक नहीं है। सरकार शिक्षक भर्ती को निरस्त करके दोबारा परीक्षा कराए। साथ ही उत्तीर्ण प्रतिशत का मानक पहले तय किया जाए, ताकि भ्रम की स्थिति न रहे। अभ्यर्थियों ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के आवास पर ज्ञापन दिया है।

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget