Jul 25, 2018

यूनिफार्म, बैग व किताबों का एक सप्ताह में कराएं वितरण

यूनिफार्म, बैग व किताबों का एक सप्ताह में कराएं वितरण
unifarm, bag v kitabon ka 1 saptah me karayen vitran

शिक्षा अधिकारियों के साथ बैठक कर डीएम ने दिए निर्देश


जागरण संवाददाता, हरदोई : परिषदीय विद्यालयों की दशा सुधारने के लिए जिलाधिकारी ने कड़े कदम उठाए हैं। डीएम ने मंगलवार को बेसिक शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर व्यवस्था का पाठ पढ़ाया। एक सप्ताह में जूता, मोजा और बैग वितरण पूरा करने का आदेश दिया।

डीएम पुलकित खरे ने कहा कि खंड शिक्षा अधिकारी अपने ब्लाकों के समस्त स्कूलों में यूनीफार्म, किताब, जूते-मोजे एवं बैग वितरण एक सप्ताह में पूरा करा लें। एक अगस्त के बाद जिला स्तरीय अधिकारियों द्वारा विद्यालयों का निरीक्षण कराया जाएगा। इस दौरान यूनीफार्म, किताब, जूते-मोजे व बैग का वितरण न पाए जाने पर संबंधित खंड शिक्षा अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने बीइओ को निर्देश दिए कि उनके क्षेत्र के स्कूलों में खाना गैस पर बनता या नहीं, हैंडपंप ठीक है या नहीं, बिजली, शौचालय, किचन, बाउंड्रीवाल, बच्चों की संख्या, मिडडे मील की गुणवत्ता, साफ-सफाई आदि व्यवस्थाओं की जांच स्वयं कर निर्धारित प्रारूप पर शाम तक उपलब्ध करा दें। बच्चों को प्रत्येक सोमवार को फल व बुधवार को दूध का वितरण सुनिश्चित किया जाए। बैठक में सीडीओ आनंद कुमार, डीडीओ राजित राम मिश्र, बीएसए हेमंत राव, जिला पूर्ति अधिकारी सहित सभी बीईओ मौजूद रहे।

पॉलीथिन में नहीं बंद डिब्बों में रखा जाए किचन का सामान: डीएम ने सभी खंड शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दिए कि अपने क्षेत्र के सभी विद्यालयों में मसाले, दाल आदि सामान पॉलीथिन या लिफाफे में रखने के बजाय डिब्बों में रखे जाएं। यह व्यवस्था 31 जुलाई तक कराना सुनिश्चित की जाए। अन्य खाद्यान्न को जार में रखा जाए।

मिडडे मील शेड बनवाने के दिए निर्देश: जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यालयों में बच्चे जमीन पर बैठकर खाना खा रहे हैं। यह स्थिति बिल्कुल ठीक नहीं है। उन्होंने कहा कि संबंधित ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा ग्राम पंचायत निधि से 15 अगस्त तक सभी स्कूलों में मिडडे मील शेड बनवाया जाए। जिन स्कूलों में शेड के लिए स्थान नहीं है। वहां विद्यालय के कमरे या बरामदे में स्लेप शेड बनवाए जाएं।

unifarm, bag v kitabon ka 1 saptah me karayen vitran

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|