इस्लामिया विद्यालयों को तलाशेगा विभाग

इस्लामिया विद्यालयों को तलाशेगा विभाग
islamiya vidyalayon ko talashega vibhaag

गोरखपुर-बस्ती मंडल के सातों जिलों के बीएसए को दिया गया निर्देश, विद्यालय संचालन के जिम्मेदारों पर होगी कार्रवाई


गोरखपुर : विभिन्न जनपदों में कुछ परिषदीय विद्यालयों के इस्लामिया विद्यालय के रूप में संचालित होने का मामला प्रकाश में आने के बाद शिक्षा विभाग भी गंभीर हो गया है। सहायक शिक्षा निदेशक गोरखपुर-बस्ती मंडल ने दोनों मंडलों के सातों जिलों के बीएसए को पत्र लिखकर ऐसे विद्यालयों को तलाशने व उनका संचलन नियम के अनुसार कराने का निर्देश दिया है। इनके संचलन के लिए जो भी दोषी पाया जाएगा, उसके खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।


देवरिया, महराजगंज व गोरखपुर जनपद में परिषदीय विद्यालयों के इस्लामिया विद्यालय के रूप में संचालित होने का मामला प्रकाश में आया था। जागरण ने इस मामले को प्रमुखता से उठाया और ऐसे सभी विद्यालयों की व्यवस्था सामान्य विद्यालयों की तरह की जा चुकी है। इनके नाम के आगे से इस्लामिया शब्द भी मिटा दिया गया है। जिलाधिकारी के स्तर से भी इस मामले की जांच कराई जा रही है।

islamiya vidyalayon ko talashega vibhaag

एलआइयू ने जुटाई जानकारी: एलआइयू के अधिकारियों ने बुधवार को जिला बेसिक शिक्षा कार्यालय पहुंचकर इस्लामिया विद्यालयों से जुड़ी जानकारी जुटाई। इंटेलीजेंस के अधिकारी बीएसए भूपेंद्र नारायण सिंह से मिले। इन क्षेत्रों के खंड शिक्षा अधिकारियों व विद्यालयों के प्रधानाध्यापकों का नंबर भी प्राप्त किया। रिपोर्ट शासन को भी भेजी जा रही है।


basic shiksha basic shiksha news app basic shiksha current news basic shiksha latest news
basic shiksha news basic shiksha board basic shiksha parishad lucknow

चल रहा नाम मिटाने का सिलसिला : जनपद में चार विद्यालयों के इस्लामिया के रूप में संचालित किए जाने का मामला प्रकाश में आया था। हालांकि पहले ही साप्ताहिक अवकाश शुक्रवार से बदलकर रविवार कर दिया गया था लेकिन उनके नाम के आगे इस्लामिया शब्द जुड़ा था। कैंपियरगंज क्षेत्र के दो विद्यालयों के बारे में समाचार प्रकाशित होने के बाद इस्लामिया शब्द मिटाया गया। बड़हलगंज क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय बेईली से भी इस्लामिया नाम स्वत: हटा दिया गया। कुछ वर्ष पूर्व तक उरुवा क्षेत्र में भी एक विद्यालय था, उसकी व्यवस्था भी बदली जा चुकी है।

इस्लामिया विद्यालयों का मामला संज्ञान में आने के बाद दोनों मंडलों के सातों जिलों के बीएसए को पत्र लिखकर ऐसे विद्यालयों को तलाशने और उन्हें बंद कराने का निर्देश दिया गया है। नियमानुसार कोई विद्यालय इस्लामिया या किसी और नाम से संचालित नहीं हो सकता। इसके संचलन को लेकर जो दोषी होगा, उसपर कार्रवाई भी होगी।1जेएन सिंह, सहायक शिक्षा निदेशक बेसिक गोरखपुर-बस्ती मंडलदो शिक्षक निलंबित

सिद्धार्थनगर के विकास खंड खेसरहा के प्राथमिक विद्यालय देउरी में बच्चों के पास से उर्दू की पुस्तकें मिलीं। पता चला कि वह मजहबी पुस्तकें हैं। इसे लेकर विद्यालय के दो शिक्षकों को निलंबित कर दिया गया है। साथ ही निदेशक बेसिक शिक्षा को पत्र भेजकर मार्गदर्शन मांगा गया है। निलंबित शिक्षकों में प्रधानाध्यापक मतीउल्लाह व सहायक अध्यापक मो.अकमल शामिल हैं।1


July 26, 2018

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget