Jul 21, 2018

डरे सहमे हैं बच्चे, स्कूल जाने की बात पर साध लेते हैं चुप्पी, तीन दिन से नहीं खुला स्कूल का ताला

Basic Shiksha Latest News, Basic Shiksha Current News, Dare sahme hain Bachche

डरे सहमे हैं बच्चे, स्कूल जाने की बात पर साध लेते हैं चुप्पी

तीन दिन से नहीं खुला स्कूल का ताला, बैकफुट पर नजर आ रहा शिक्षा विभाग

संसू, लालगंज : लालगंज कोतवाली के रामपुर संग्रामगढ़ ब्लाक अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय पूरे अनिरुद्ध में बीते बुधवार को गेट गिरने से कक्षा दो के छात्र राज की मौत व दो अन्य छात्र घायल हो गए थे। हादसे के बाद से बच्चे, अभिभावकों में दहशत है। स्कूल बंद पड़ा है। स्कूल में पठन पाठन सुचारु करने का प्रयास करने के बजाय शिक्षा विभाग बैकफुट पर नजर आ रहा है। छात्र की मौत के बाद से जहां बच्चे डरे सहमे हैं वहीं अभिभावक भी उन्हें स्कूल भेजने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं। लोगों में इस बात का आक्रोश है कि अभी तक कोई हालचाल जानने तक नहीं आया। ग्राम प्रधान पर हुई कार्रवाई को भी दबी जुबान से खानापूर्ति मान रहे हैं। आक्रोशित लोगों का कहना है कि पैसे के लोभ में बच्चों की जान की परवाह न करते हुए घटिया निर्माण कार्य कराने वाले दोषियों को ऐसा सबक मिलना जरुरी है कि भविष्य में कहीं भी इसकी पुनरावृत्ति न हो सके।

वहीं हादसे से बच्चे सहमें हैं, स्कूल जाने को लेकर वह कुछ भी नहीं बोल रहे हैं, स्कूल में सन्नाटा पसरा है, शिक्षक भी नहीं आ रहे हैं। घटना के बाद से यहां ताला बंद है। डरे सहमें बच्चों व उनके अभिभावकों में विश्वास जगाने आदि को लेकर किसी भी प्रकार का प्रयास करने के बजाय स्कूल बंद करके शिक्षा विभाग के लोग हाथ पर हाथ धरे नजर आ रहे हैं। खंड शिक्षाधिकारी लालगंज मो. रिजवान का कहना है कि स्कूल बंद किए जाने का कोई आदेश नहीं दिया गया है। विद्यालय के प्रधानाध्यापक निलंबित हैं। स्कूल के अन्य शिक्षकों से स्कूल खोलने को कहा गया है। जल्द ही मामले की जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

विद्यालय के शिक्षकों से गावं के लोग प्रधान के विरुद्ध बयान देने को लेकर नाराज हैं। एबीएसए को निर्देशित किया गया है कि दूसरे स्कूल के शिक्षकों व उस गांव की शिक्षा मित्र से स्कूल चलवाया जाए।

बंद पड़ा प्राइमरी स्कूल पूरे अनुरुद्ध कहीं और लिखाएंगे बच्चों का नाम

लालगंज के पूरे अनिरुद्ध स्कूल में छात्र की मौत की घटना के बाद से बच्चे ही नहीं अभिभावकों में भी भय देखा जा रहा है। बच्चे स्कूल कब से जाएंगे इसे लेकर अभिभावक भी अभी कुछ नहीं कह पा रहे हैं। वहीं हादसे के बाद से कुछ अभिभावकों का तो यह कहना है कि वह अपने बच्चे को वहां नहीं भेजेंगे बल्कि कहीं दूसरे विद्यालय में भेज देंगे। जब उनका बच्चा ही नहीं रहेगा तो क्या करेंगे। 1सदमे से नहीं उबर पा रहे मृत छात्र के परिजन

पूरे अनिरुद्ध गो¨वदपुर स्कूल गेट गिरने से छात्र राज की हुई मौत के बाद से परिजन सदमे से उबर नहीं पा रहे हैं। है। इकलौती संतान की मौत से पिता बब्बू, मां, बहनें रागिनी, सालिनी समेत सभी बात बात पर रो पड़ते हैं। दो बहनों में अकेला होने से सभी का दुलारा था।

नहीं पहुंचे अफसर, कागज पर ही चल रही है जांच

प्राथमिक विद्यालय पूरे अनिरुद्ध में गेट गिरने से छात्र की हुई मौत को लेकर बीएसए अशोक कुमार ने खंड शिक्षाधिकारी मुख्यालय सुधीर कुमार व लक्ष्मणपुर के गौतम प्रसाद को जांच करके सप्ताह भर में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया था। अफसरों की जिम्मेदार का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि तीसरे दिन भी जांच टीम घटना स्थल तक नहीं पहुंच सकी। बीएसए के निर्देश को हवा में उड़ाते हुए मौके पर पहुंचकर स्थलीय निरीक्षण करने के बजाय खंड शिक्षाधिकारी लक्ष्मणपुर द्वारा सिर्फ समय से जांच रिपोर्ट भेज देने की बात कही जा रही है।


Basic Shiksha Latest News, Basic Shiksha Current News, Dare sahme hain Bachche

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|