Jul 24, 2018

बीएसए के सामने किताब का नाम तक नहीं पढ़ पाए बच्चे

बीएसए के सामने किताब का नाम तक नहीं पढ़ पाए बच्चे
bsa ke samane kitab ka naam tak nahi padh paye bachche

जागरण संवाददाता, हरदोई: जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने सोमवार को औचक निरीक्षण करते हुए विद्यालयों में शिक्षा की गुणवत्ता होने पर नाराजगी जताई। उन्होंने शिक्षण कार्य में लापरवाही करने पर चार प्रधानाध्यापकों समेत आठ शिक्षकों का वेतन रोकने को निर्देशित किया है। साथ ही शिक्षा व्यवस्था सुधारने और विद्यालयों में साफ-सफाई रखने को कहा है।

बीएसए हेमंत राव ने हरियावां के प्राथमिक विद्यालय बरगावां का निरीक्षण किया। बीएसए ने बताया कि इस दौरान विद्यालय में साफ-सफाई नहीं मिलीं। अध्ययनरत छात्र सौरभ, अनुपमा, विवेक किताब का नाम तक नहीं पढ़ सके। इस पर उन्होंने प्रधानाध्यापिका रेनू वर्मा समेत कन्याकुमार, राधादेवी, पदमिनी गांधी व पूजा रानी का वेतन रोकने के निर्देश दिए। साथ ही खंड शिक्षा अधिकारी को नियमित विद्यालय का निरीक्षण करने को कहा है। कन्या जूनियर हाईस्कूल अहमदी में मीनू के अनुसार एमडीएम बनता नहीं मिला और विद्यालय में साफ-सफाई नहीं मिली। उन्होंने प्रधानाध्यापिका को विद्यालय में नियमित सफाई कराने व मीनू के अनुसार एमडीएम बनवाने को निर्देशित किया है। बीएसए ने अहमदी के प्राथमिक विद्यालय, उच्च प्राथमिक विद्यालय व प्राथमिक विद्यालय जतुली का निरीक्षण किया। जहां तीनों विद्यालयों में एमडीएम मीनू के अनुसार बनता नहीं मिला। साथ ही शैक्षिक गुणवत्ता खराब पाई गई। उन्होंने प्रधानाध्यापक राजकुमार, कृष्णकुमार व कुमार प्रीती का वेतन रोकने के निर्देश दिए हैं।

bsa ke samane kitab ka naam tak nahi padh paye bachche

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|