Jul 24, 2018

शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा में बर्खास्त किए जाएंगे 81 फर्जी शिक्षक

बर्खास्त किए जाएंगे 81 फर्जी शिक्षक
barkhast kiye jayenge 81 Farzi shikshak

मैनपुरी। शिक्षक भर्ती फर्जीवाड़ा में 81 शिक्षकों को बर्खास्तगी का दूसरा नोटिस जारी हो गया है। एसआईटी जांच में इन 81 शिक्षकों के शैक्षिक प्रमाण-पत्र संदिग्ध मिले थे। एसआईटी ने इनकी सेवाएं समाप्त करने का फरमान भी जारी किया था, लेकिन उच्च न्यायालय ने इन शिक्षकों को फौरी तौर पर राहत दे दी। इन शिक्षकों पर कार्रवाई की तलवार फिर लटक गई है। बीएसए मैनपुरी ने आगरा विश्वविद्यालय को पत्र भेजकर इन शिक्षकों की डिग्रियां फर्जी हैं या असली, इसकी रिपोर्ट मांगी है। .

बेसिक शिक्षा विभाग में शिक्षकों की भर्ती में लंबे समय से फर्जीवाड़ा होता रहा है। 16 महीने पहले 31 शिक्षक फर्जी शैक्षिक प्रमाणपत्र होने के कारण नौकरी से बाहर कर दिए गए थे। डॉ. भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय से बीएड की डिग्री हासिल करने वाले शिक्षकों की जांच जब एसआईटी ने की तो पूरे जिले में 81 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी निकल आए। एसआईटी ने इन शिक्षकों पर कार्रवाई करने के लिए शासन को अपनी रिपोर्ट दे दी। शासन ने भी बीएसए को निर्देशित किया कि फर्जी दस्तावेजों के आधार पर नौकरी करने वाले शिक्षकों को सेवा समाप्ति का नोटिस जारी कर सेवा समाप्त कर दी जाए। 6 महीने पहले जैसे ही इन 81 शिक्षकों को नोटिस जारी हुआ। सभी शिक्षक उच्च न्यायालय की शरण में चले गए। शिक्षकों को न्यायालय ने फौरी तौर पर राहत दे दी थी। अब एक बार फिर इन शिक्षकों पर कार्रवाई की तैयारी शुरू हो गई है। बीएसए ने विश्वविद्यालय को पत्र भेजकर यह पूछा है कि एसआईटी जांच में इन 81 शिक्षकों के दस्तावेज फर्जी पाए गए हैं। विश्वविद्यालय यह बताए कि इन 81 शिक्षकों के शैक्षिक प्रमाण पत्र फर्जी हैं अथवा असली। .

.

विश्वविद्यालय से रिपोर्ट आने के बाद इन 81 शिक्षकों के भाग्य का फैसला हो जाएगा। हालांकि बीएसए ने इन 81 शिक्षकों को बर्खास्तगी का दूसरा नोटिस भी सोमवार को जारी कर दिया है

barkhast kiye jayenge 81 Farzi shikshak

चेतावनी

इस ब्लॉग की सभी खबरें सोशल मीडिया से ली गई हैं, कृपया खबर का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें| इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है| पाठक ख़बरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा|