एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा 2018:- कक्ष निरीक्षक भी नहीं रख सकेंगे मोबाइल फोन

कक्ष निरीक्षक भी नहीं रख सकेंगे मोबाइल फोन
LT Grade shikshsk bharti exam:- kaksha nirikshak bhi nahi rakh sakenge mobile

आवेदन किया बनारस से परीक्षा आगरा में


जैसे आवेदन वैसे ही कॉलेज का आवंटन

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : यूपी पीएससी की ओर से 29 जुलाई को प्रस्तावित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा बेहद संवेदनशील है। इसमें लिखित परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर ही अंतिम रूप से चयन होना है। परीक्षा केंद्र ‘हाईजैक’ होने के आसार हैं। ऐसे में यूपी पीएससी ने कक्ष निरीक्षकों के मोबाइल फोन साथ रखने पर भी पाबंदी लगाई है।

परीक्षा केंद्रों के बाहर पुलिस व स्टैटिक मजिस्ट्रेट आदि की तैनाती जिलों के प्रशासन को करनी है। यूपी पीएससी इस संबंध में निर्देश दे चुका है। नकल कराने वाले गिरोह के सक्रिय होने को देखते हुए शासन से एसटीएफ की तैनाती के लिए मांग भी की जा चुकी है। परीक्षा कक्ष में अभ्यर्थियों की गतिविधियों पर निगाह रखने वाले कक्ष निरीक्षकों पर भी अब सख्त पहरा रहेगा, क्योंकि कक्ष निरीक्षक भी नकल माफिया से साठगांठ कर परीक्षा में ‘खेल’ कर सकते हैं। इसीलिए मोबाइल फोन नहीं ले सकेंगे।

इलाहाबाद : यूपी पीएससी की ओर से 29 जुलाई को प्रस्तावित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा बेहद संवेदनशील है। इसमें लिखित परीक्षा में मिले अंकों के आधार पर ही अंतिम रूप से चयन होना है। परीक्षा केंद्र ‘हाईजैक’ होने के आसार हैं। ऐसे में यूपी पीएससी ने कक्ष निरीक्षकों के मोबाइल फोन साथ रखने पर भी पाबंदी लगाई है।

परीक्षा केंद्रों के बाहर पुलिस व स्टैटिक मजिस्ट्रेट आदि की तैनाती जिलों के प्रशासन को करनी है। यूपी पीएससी इस संबंध में निर्देश दे चुका है। नकल कराने वाले गिरोह के सक्रिय होने को देखते हुए शासन से एसटीएफ की तैनाती के लिए मांग भी की जा चुकी है। परीक्षा कक्ष में अभ्यर्थियों की गतिविधियों पर निगाह रखने वाले कक्ष निरीक्षकों पर भी अब सख्त पहरा रहेगा, क्योंकि कक्ष निरीक्षक भी नकल माफिया से साठगांठ कर परीक्षा में ‘खेल’ कर सकते हैं। इसीलिए मोबाइल फोन नहीं ले सकेंगे।4.5 लाख प्रवेशपत्र डाउनलोड1एलटी ग्रेड परीक्षा में शामिल होने को अभ्यर्थियों में होड़ मची है। परीक्षा में सात लाख 63 हजार अभ्यर्थी पंजीकृत हैं और उनके प्रवेशपत्र वेबसाइट पर दो दिन पहले ही अपलोड हुए हैं। मंगलवार शाम तक साढ़े चार लाख अभ्यर्थी अपना प्रवेशपत्र डाउन लोड कर चुके हैं। यह स्थिति तब है जब यूपी पीएससी की वेबसाइट ओवरलोड चल रही है और दिन में कई बार सर्वर काम नहीं कर रहा। अधिकांश प्रवेश पत्र रात में डाउनलोड किए जा रहे हैं।

पूरब के अभ्यर्थी पश्चिम भेजे

यूपी पीएससी ने एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती के लिए अभ्यर्थियों को उम्मीद थी कि उन्हें अपने जिले के नजदीक ही परीक्षा देने का मौका मिलेगा। लेकिन, प्रवेश पत्र जारी होते ही यह व्यवस्था भी तार-तार हो गई है। फैजाबाद के गिरधर मिश्र को अलीगढ़, अंबेडकर नगर के गया प्रसाद को रामपुर, इलाहाबाद के अमित मौर्य को मुरादाबाद परीक्षा के लिए भेजा जा रहा है। ऐसे ही अन्य परीक्षार्थियों को सुदूर के जिलों में भेजा गया है।

सचिव बोले, जांच जरूर होगी1एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती की लिखित परीक्षा को लेकर भी यूपी पीएससी की संजीदगी उस वक्त तार-तार हो गई जब सीट आवंटन में हुई गड़बड़ी में कुछ प्रकरणों पर जांच कराने का आश्वासन देकर सचिव जगदीश ने कहा कि गलती कहीं न कहीं हुई जरूर है। अभ्यर्थियों की ओर से विरोध के स्वर उठने के बाद आखिर यूपी पीएससी ने इसे स्वीकारा कि गलतियां हो सकती हैं जिनकी जांच कराई जाएगी। यूपी पीएससी गलतियां दोहराने से बाज नहीं आ रहा है।

इलाहाबाद : यूपी पीएससी ने परीक्षा में केंद्र आवंटित करने में रैंडम प्रणाली का इस्तेमाल नहीं किया है। इसीलिए अभ्यर्थियों ने जिस तरह समूह बनाकर आवेदन किए, उसी तरह सीरियल से उन्हें कालेज भी मिल गया है। तमाम केंद्र ऐसे हैं, जहां एक ही विषय के अधिकांश अभ्यर्थी आवंटित हो गए हैं। इससे परीक्षा में नकल रोकने में अफसरों का परेशान होना तय है।

किस जिले में कितने केंद्र पर मौन : यूपी पीएससी ये इम्तिहान प्रदेश के 39 जिलों के 1760 केंद्रों पर करा रहा है। किस जिले में कितने केंद्र बने हैं, इसकी सूची नहीं जारी हुई। आगरा, अलीगढ़, इलाहाबाद, आजमगढ़, बाराबंकी, बरेली, बस्ती, बुलंदशहर, इटावा, फैजाबाद, फरुखाबाद, फतेहपुर, फीरोजाबाद, गाजियाबाद, गाजीपुर, गोरखपुर, हरदोई, जौनपुर, झांसी, ज्योतिबा फुले नगर, कानपुर नगर, ललितपुर, लखनऊ, महराजगंज, मैनपुरी, मथुरा, मेरठ, मीरजापुर, मुरादाबाद, मुजफ्फर नगर, प्रतापगढ़, रायबरेली, रामपुर, शाहजहांपुर, सहारनपुर, सीतापुर, सुलतानपुर, उन्नाव व वाराणसी शामिल हैं।

जासं, वाराणसी : लोक सेवा आयोग, उप्र ने 29 जुलाई को होने वाली एलटी ग्रेड (प्रशिक्षित स्नातक) की परीक्षा का प्रवेश पत्र ऑनलाइन कर दिया है। परीक्षार्थी आयोग की वेबसाइट से प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। वहीं प्रत्येक विषय के लिए सूबे के अलग-अलग जिलों में एक-एक सेंटर बनाए गए हैं। हंिदूी विषय की परीक्षा सिर्फ वाराणसी में होगी। वहीं अंग्रेजी की आगरा में, गृह विज्ञान की मेरठ में होगी। ऐसे में वाराणसी से आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा देने के लिए आगरा जाना होगा। जबकि, आगरा से हंिदूी विषय के अध्यापक के लिए आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को परीक्षा देने बनारस आना होगा। इसे लेकर अभ्यर्थियों में रोष है। अभ्यर्थियों का कहना है कि परीक्षा के लिए अब महज पांच दिन शेष हैं। कई ट्रेनों में सीटें फुल हैं। ऐसे में परीक्षा देने के लिए आगरा व मेरठ कैसे जाएं। इसे लेकर मंथन चल रहा है। अभ्यर्थियों का कहना है कि आयोग को कम से कम 15 दिन पहले प्रवेश पत्र जारी करना चाहिए था ताकि अभ्यर्थी रिजर्वेशन करा सके। अभ्यर्थियों ने परीक्षा टालने की मांग की है। शिक्षक विधायक चेत नारायण सिंह ने भी इस पर कड़ी आपत्ति जताई है। उन्होंने एक विषय के प्रदेश में कम से कम चार जिलों में केंद्र बनाने की मांग की है।तैयारियों के बड़े-बड़े दावे 1यूपी पीएससी के सचिव जगदीश व परीक्षा नियंत्रक अंजू कटियार इम्तिहान कराने के लिए बड़े-बड़े दावे कर रहे हैं। एसटीएफ तक की मदद मांगी गई है। साथ ही परीक्षा की सारी तैयारियां पूरी होने का भी दावा किया गया है।

LT Grade shikshsk bharti exam:- kaksha nirikshak bhi nahi rakh sakenge mobile


July 25, 2018

Post a Comment

[blogger]

MKRdezign

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget