बेसिक शिक्षा अधिकारी के निरीक्षण में नदारद मिले 13 शिक्षक, दो शिक्षामित्र और तीन अनुदेशक भी रहे गायब

July 29, 2018
निरीक्षण में नदारद मिले 13 शिक्षक

bsa ke nirikshan me 13 shikshak nadarad mile


दो शिक्षामित्र और तीन अनुदेशक भी रहे गायब, पांच शिक्षक विलंब से पहुंचे स्कूल1


अंबेडकरनगर : बेसिक शिक्षा अधिकारी अतुल सिंह ने शनिवार को अकबरपुर तथा जलालपुर तहसील के विद्यालयों का निरीक्षण किया। वहीं दूसरी तरफ खंड शिक्षा अधिकारियों ने भी कई विद्यालयों का निरीक्षण किया। इसमें 13 शिक्षक अनुपस्थित मिले इसके अलावा पांच शिक्षक विलंब से आए और दो शिक्षामित्र अनुपस्थित मिले साथ ही तीन अनुदेशक भी अनुपस्थित पाए गए।


इनमें से सभी शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटा गया और विलंब से आए शिक्षकों से स्पष्टीकरण मांगा गया। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने शनिवार को उच्चतर प्राथमिक विद्यालय शाहपुर का सलेमपुर का निरीक्षण किया। इसमें सरोज कुमारी सहायक अध्यापिका, चंद्रकला सहायक अध्यापिका, सत्येंद्र सिंह, मीरा देवी, ¨बदु कुमारी एवं देवेंद्र कुमार विलंब से आए। उपरोक्त तीनों अनुदेशक अनुपस्थित पाए गए वहीं उच्चतर प्राथमिक विद्यालय सलाहुद्दीपुर के प्रधानाध्यापक कुलभूषण उपाध्याय, सहायक अध्यापिका मोहनी वर्मा तथा शिक्षामित्र विश्वनाथ शुक्ला भी विलंब से स्कूल पहुंचे। वहीं दूसरी तरफ खंड शिक्षा अधिकारी अकबरपुर वीरेंद्र नाथ द्विवेदी निरीक्षण किया गया। इसमें अशोक कुमार प्राथमिक विद्यालय मखदूमपुर बिना अवकाश प्रार्थना पत्र दिए ही गायब रहे।

bsa ke nirikshan me 13 shikshak nadarad mile

सहायक अध्यापिका शबनम भी बिना सूचना के अनुपस्थित रहे। इसमें प्रधानाध्यापक विनय कुमार वर्मा विश्रमपुर के प्राथमिक विद्यालय के सहायक अध्यापक ज्ञानप्रकाश, उच्चतर प्राथमिक विद्यालय बिश्रमपुर के सहायक अध्यापक प्रभात रंजन भी गायब रहे। खंड शिक्षा अधिकारी जहांगीरगंज श्रवण कुमार यादव द्वारा प्राथमिक विद्यालय रामपुर रामपट्टी के प्रधानाध्यापक अमरजीत भी अनुपस्थित मिले। खंड शिक्षा अधिकारी अकबरपुर चंद्रभूषण पांडेय के निरीक्षण में उच्चतर प्राथमिक विद्यालय सिझौलिया कटेहरी के राजीव गौतम तथा प्राथमिक विद्यालय बहोरिकपुर सालिकराम हस्ताक्षर बनाकर अनुपस्थित रहे। इस बाबत जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी ने बताया कि विद्यालय का निरीक्षण लगातार किया जाएगा। अनुपस्थित शिक्षकों के खिलाफ विभागीय कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने बताया कि शिक्षा की गुणवत्ता बढ़ाना मुख्य ध्येय है।