बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

मई 04, 2018

लखनऊ आलमबाग : Uptet: टीईटी 2011 के बीएड डिग्री धारकों का फूटा गुस्सा, पुलिस ने खदेड़ा

टीईटी छात्रों पर लाठियां भांजी, कई चोटिल

-ईको गार्डन आलमबाग में मची भगदड़, पांच छात्र हुए चोटिल

-छात्रों ने सरकार पर लगाये आरोप, कहा बंद नहीं होगा प्रदर्शन

लम्बे समय से नियुक्ति की मांग को लेकर लड़ाई लड़ रहे टीईटी अभ्यर्थियों पर गुरुवार को प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई की। ईको गार्डन स्थित धरना स्थल से छात्रों के बाहर निकलकर सड़क पर प्रदर्शन करने पर उनको लाठियां खानी पड़ा। पुलिस ने उनको खदेड़ा जिससे भगदड़ मच गई। छात्रों के सड़क से धरना स्थल पर वापस नहीं जाने पर उनपर लाठियां भी भांजी। जिसमें पांच लोग चोटिल हो गये।

बीएड और टीईटी 2011 बैच के उत्तीर्ण अभ्यार्थी की नियुक्ति की मांग को लेकर यहां काफी दिनों से धरना चल रहा है। गुरुवार को उत्तेजित छात्रों को नियंत्रित करने के लिये एसीएम तृतीय आनन्द कुमार, सीओ संजीव सिन्हा, इंस्पेक्टर आलमबाग अरुण कुमार मिश्रा को पीएसी बल के साथ यहां पहुंचना पड़ा। छात्रों के सड़क पर पहुंचकर प्रदर्शन करने पर उनको खदेड़ने की कोशिश की गई। नहीं मानने पर बल प्रयोग किया गया। अचानक लाठी चार्ज होने से आफरातफरी मच गई। भगदड़ में लोग इधर-उधर भागे। चोटिल होने वालों में पुरुष और महिला दोनों अभ्यर्थी रहीं। सीओ आलमबाग संजीव सिन्हा का कहना है कि टीईटी छात्र धरना स्थल से बिना किसी सूचना के सड़क जाम का प्रयास कर रहे थे। यातायात में व्यवधान उत्पन्न होने पर उनको हटाने का प्रयास किया गया लेकिन वे सड़क से नहीं हटे और प्रदर्शन करने पर उतारू रहे। जिसपर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी पड़ी। एसीएम ने धरना देने वाले नेताओ पर मुकदमा लिखे जाने का आदेश दिया। धरना दे रहे छात्रों ने आरोप लगाया कि सीओ संजीव सिन्हा ने जबरन सुनील यादव और सुल्तान अहमद को जीप में ले गई। चोटिल विनोद का कहना है कि बीजेपी सरकार की लाठी खिलाने वाली दमनकारी नीति को अभियार्थी सफल नही होने देंगे।

छात्रों ने की नारेबाजी, बोले डरने वाले नहीं

पुलिस की कार्रवाई से भड़के छात्रों ने लाठी भांजे जाने का विरोध किया। सघर्ष समिति के मान बहादुर सिंह ने चेतावनी दी सरकार की दमनकारी नीति से डरने वाले नही है। आक्रोशित अभियर्थियों का कहना था सरकार एनसीआरटी को परमिशन दुबारा दे, खिलवाड़ खत्म करके अभियार्थी की मदद करे। नौकरी देकर परिवार सहित बेरोजगारों का उद्धार करे। धरने में काफी संख्या में महिला और पुरुष अभ्यर्थी मौजूद थे।

घायल अभ्यर्थी में लखनऊ, फतेहपुर और कानपुर के छात्र

प्रदर्शन के दौरान पुलिस की कार्रवाई में घायल होने वालों में लखनऊ, फतेहपुर और कानपुर के छात्र थे। घायल छात्रों में लखनऊ के शैलेन्द्र यादव, फतेहपुर के नरेंद्र कुमार, कानपुर के जितेंद्र कटियार, लखनऊ की अनन्या, कानपुर के किशन रहे।

पार्क में टहलने वाले लोग भी सहमे

ईको गार्डेन में काफी लोग रोजाना घूमने आते हैं। उनको जब टीईटी छात्रों पर लाठीचार्ज की खबर मिली तो वे पार्क में टहलने नहीं आये। जो लोग उस समय पार्क में मौजूद थे वो भी सहम गये।


लखनऊ आलमबाग : Uptet: टीईटी 2011 के बीएड डिग्री धारकों का फूटा गुस्सा, पुलिस ने खदेड़ा Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।