बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

मई 23, 2018

वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने विद्यालय मान्यता जांच के नाम पर छापेमारी,नोटिस कार्यवाही रोकने तथा अर्थदण्ड कार्यवाही की वापसी की उठायी मांग,

महराजगंज : वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने विद्यालय मान्यता जांच के नाम पर छापेमारी,नोटिस कार्यवाही रोकने तथा अर्थदण्ड कार्यवाही की वापसी

महराजगंज : मान्यता विहीन व वित्तविहीन विद्यालयों को बंद कराने के में वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने मंगलवार को जिला मुख्यालय पर जताया तथा अपनी मांगों से संबंधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा। कहा कि यदि समस्याओं का निदान नही हुआ तो संगठन द्वारा व्यापक आंदोलन किया जाएगा। धरने को संबोधित करते हुए जिलाध्यक्ष रामराज चौरसिया ने कहा कि मान्यता के नाम पर विभाग द्वारा प्रबंधकों का उत्पीड़न किया जा रहा है। विभाग के इस कृत्य से काफी समस्या आ रही है। उन्होंने अपने ज्ञापन में प्रबंधकों के उत्पीड़न को तत्काल बंद कराने, विद्यालयों पर छापेमारी व नोटिस की कार्यवाही को अविलंब रोके जाने, सभी मानक पूरा करने वाले व जिला विद्यालय कार्यालय में प्रस्तुत की गई फाइल को तत्काल मान्यता दिए जाने, जिन विद्यालयों के मानक अपूर्ण हैं उन्हें मानक पूरा करने के उपरांत मान्यता लेने के लिए दो वर्ष का समय दिए जाने, विद्यालयों के खिलाफ लिए गए अर्थदंड की कार्यवाही को वापस लेने की मांग की है। प्रबंधकों का कहना है कि छात्रों के हित में सरकार को कदम उठाना चाहिए। इस दौरान प्रदीप जायसवाल, रूपक पटेल, सुक्खू पासवान, तारकेश्वर कन्नौजिया, दिग्विजय त्रिपाठी, दिनेश कुमार शर्मा, बृजेश सिंह,चंद्रशेखर गुप्ता आदि मौजूद रहे।


वित्तविहीन विद्यालय प्रबंधक संघ ने विद्यालय मान्यता जांच के नाम पर छापेमारी,नोटिस कार्यवाही रोकने तथा अर्थदण्ड कार्यवाही की वापसी की उठायी मांग, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।