बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अप्रैल 22, 2018

रायबरेली : सीएम ने नही मिल पाए शिक्षक कर्मचारी,और प्रेरक,बैरंग लौटे मायूस,मायूस,मुख्यमंत्री योगी को ज्ञापन देने पहुंचे विभिन्न संगठन के पदाधिकारी करते रहे इंतजार, नहीं मिल पाने का मलाल

रायबरेली : सीएम ने नही मिल पाए शिक्षक कर्मचारी,और प्रेरक,बैरंग लौटे मायूस,मायूस,मुख्यमंत्री योगी को ज्ञापन देने पहुंचे विभिन्न संगठन के पदाधिकारी करते रहे इंतजार, नहीं मिल पाने का मलाल

रायबरेली : परिवर्तन संकल्प रैली में सरकार तक अपनी बात पहुंचाने के लिए कई संगठनों के पदाधिकारी पहुंचे। उन्हें आस थी कि यहां पर उनकी मुख्यमंत्री से जरूर मुलाकात हो जाएगी। प्रेरकों के अलावा पेंशन की मांग कर रहे शिक्षक और कर्मचारी काफी देर इंतजार करते रहे, लेकिन मायूसी ही हाथ लगी। डीएम के समझाने के बाद वे लौट गए, लेकिन उन्हें न मिल पाने का मलाल रहा।
राष्ट्रीय साक्षरता कर्मी महासंघ के पदाधिकारियों ने मुख्यमंत्री से कार्यक्रम स्थल पर जाकर मिलने की कोशिश की, लेकिन सफल नहीं हो सके। प्रेरकों की मंशा भाप डीएम संजय खत्री ने पहुंचकर उनका ज्ञापन लिया। साथ ही शासन स्तर पर उनकी बात पहुंचाने का भरोसा दिया। प्रेरकों का कहना है कि एक अप्रैल 2018 सेवाएं रोक दी गई है। वर्तमान में जनपद के 1700 साक्षरता कर्मी बेरोजगार चल रहे हैं। इस मौके पर जिलाध्यक्ष अर्चना सिंह, अजमल खान, पवन यादव, किरन मिश्र, नवनीत, राम लखन मौर्य, सुनीता आदि मौजूद रहे। ऑल टीचर्स एंड इम्प्लाइज वेलफेयर एसोसिएशन अटेवा की ओर से पेंशन की मांग करते हुए भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को ज्ञापन देने पहुंचे। डॉ. नीलम तिवारी, नसीम, प्रियंका श्रीवास्तव, प्रकाश यादव आदि का कहना है कि कई राज्यों में पेंशन दिया जा रहा है।


रायबरेली : सीएम ने नही मिल पाए शिक्षक कर्मचारी,और प्रेरक,बैरंग लौटे मायूस,मायूस,मुख्यमंत्री योगी को ज्ञापन देने पहुंचे विभिन्न संगठन के पदाधिकारी करते रहे इंतजार, नहीं मिल पाने का मलाल Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।