बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अप्रैल 24, 2018

परिषदीय स्कूलों में इंटरनेट के खजाने से जुड़ेगी किताबों की पढ़ाई, स्मार्टफोन पर कर सकेंगे डाउनलोड(Basic Shiksha News, Books, Mobile,techworld)

परिषदीय स्कूलों में इंटरनेट के खजाने से जुड़ेगी किताबों की पढ़ाई, स्मार्टफोन पर कर सकेंगे डाउनलोड(Basic Shiksha News, Books, Mobile,techworld)

लखनऊ : परिषदीय स्कूलों में पढ़ाई को और जीवंत व रुचिकर बनाने के लिए किताबों के जरिये इंटरनेट पर उपलब्ध ज्ञान के खजाने से छात्र-छात्रओं को रूबरू कराने की तैयारी है। इसके लिए बेसिक शिक्षा विभाग ने खास पहल की है। विभाग की ओर से शैक्षिक सत्र 2018-19 में कक्षा एक से आठ तक के छात्र-छात्रओं को बांटने के लिए जो पाठ्यपुस्तकें छपवायी जा रही हैं, उनमें हर किताब के हर पाठ में क्यूआर कोड दर्ज होगा। प्रत्येक पाठ के लिए विशिष्ट क्यूआर कोड होगा। विभाग एंड्रायड आधारित एक ऐसा मोबाइल एप तैयार करा रहा है जिसके जरिये इस क्यूआर कोड को स्कैन किया जाएगा। यह मोबाइल एप जल्दी लांच किया जाएगा। बेसिक शिक्षा निदेशक सर्वेंद्र विक्रम बहादुर सिंह ने बताया कि प्रत्येक पाठ से जुड़ी डिजिटल सामग्री संबंधित क्यूआर कोड से लिंक की जा रही है। ऑडियो, वीडियो, ग्राफिक्स, काटरून, आदि फार्मेट में उपलब्ध इस डिजिटल सामग्री को शिक्षक अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड कर सकेंगे। इसके बाद वह इस डिजिटल सामग्री को क्लास में बच्चों के सामने अपने स्मार्टफोन या लैपटॉप के जरिये भी प्रस्तुत कर सकेंगे। शिक्षकों के अलावा छात्र-छात्रओं के अभिभावक भी इस डिजिटल सामग्री को अपने स्मार्टफोन पर डाउनलोड कर सकेंगे।


परिषदीय स्कूलों में इंटरनेट के खजाने से जुड़ेगी किताबों की पढ़ाई, स्मार्टफोन पर कर सकेंगे डाउनलोड(Basic Shiksha News, Books, Mobile,techworld) Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।