बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अप्रैल 30, 2018

घपला या घोटाला : यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 - कहां गए परीक्षा छोड़ने वाले एक लाख 23 हजार 378 विद्यार्थी

घपला या घोटाला : यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 - कहां गए परीक्षा छोड़ने वाले एक लाख 23 हजार 378 विद्यार्थी


इलाहाबाद : बोर्ड ने हाईस्कूल व इंटर परीक्षा 2018 के रिजल्ट में पंजीकृत और शामिल होने वाले परीक्षार्थियों का जो आंकड़ा दिया है, उसमें एक लाख 23 हजार 378 परीक्षा छोड़ने वाले गुम हो गए हैं। बोर्ड प्रशासन ने मीडिया को 12 मार्च को सूचित किया था कि 11 लाख 29 हजार 786 परीक्षार्थियों ने इम्तिहान छोड़ा है। वहीं, परिणाम के समय यह आंकड़ा घटकर 10 लाख छह हजार 408 पर टिक गया है।1नकल पर अंकुश लगाने से परीक्षा के पहले दिन से ही नकलची छात्र-छात्रओं ने किनारा करना शुरू कर दिया और महज चौथे दिन ही परीक्षा छोड़ने वालों का आंकड़ा दस लाख पार कर गया। 10 लाख 44 हजार 619 यूपी बोर्ड के इतिहास में परीक्षा छोड़ने वालों की सर्वाधिक संख्या है। इसमें हाईस्कूल के छह लाख 24 हजार 473 व इंटर के चार लाख 20 हजार 146 छात्र-छात्रएं शामिल रहे। यह संख्या परीक्षा खत्म होने तक बढ़कर 11 लाख 29 हजार 786 हो गई। इसमें 469279 इंटर व 660507 परीक्षार्थी हाईस्कूल के थे। यह अलग बात है कि परीक्षा छोड़ने वालों की संख्या उन्हीं जिलों व केंद्रों पर अधिक रही जो पिछले वषों में नकल कराने के लिए कुख्यात रहे हैं। माध्यमिक शिक्षा मंत्री डा. दिनेश शर्मा ने परीक्षा छोड़ने वालों को गैर प्रांत के अभ्यर्थी बताया था।83 हजार हुए पहले ही बाहर 1परीक्षा के ठीक पहले यूपी बोर्ड प्रशासन ने 83753 परीक्षार्थियों के आवेदन सही न मिलने पर फार्म निरस्त हुए, उनके प्रवेश पत्र जारी नहीं किए गए। इसमें 49384 हाईस्कूल व 34369 इंटर के परीक्षार्थी थे।


घपला या घोटाला : यूपी बोर्ड परीक्षा 2018 - कहां गए परीक्षा छोड़ने वाले एक लाख 23 हजार 378 विद्यार्थी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।