बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

जनवरी 07, 2018

इलाहाबाद : दारोगा भर्ती परीक्षा में नकल का ठेका

जासं, इलाहाबाद : दारोगा भर्ती परीक्षा पास कराने का ठेका लेने वाले गिरोह का भंडाफोड़ करते हुए पुलिस ने छह शातिरों को गिरफ्तार किया है। छह जालसाज दूसरे के नाम पर परीक्षा देने पहुंचे थे। गिरोह के सभी शातिर शहर के एक होटल में ठहरे हुए थे। प्रति अभ्यर्थी पांच लाख में ठेका हुआ था। पचास हजार रुपये एडवांस लिए गए थे। पकड़े गए लोगों में पांच बिहार और एक चंदौली का है। गिरोह का मुखिया चंदौली का कोचिंग संचालक है। दारोगा भर्ती परीक्षा के नोडल अधिकारी बनाए गए एसपी क्राइम बृजेश मिश्र के मुताबिक, कुछ शातिरों ने परीक्षा पास कराने का ठेका लिया। गिरोह ने अभ्यर्थियों के स्थान पर अपने आदमी परीक्षा देने के लिए भेजे। फर्जी दस्तावेज के आधार पर परीक्षा देने की तैयारी हुई। शुक्रवार सुबह धूमनगंज स्थित फूलवती इंटर कालेज पर रवींद्र मंडल निवासी मधुबनी बिहार को पकड़ा गया। रवींद्र चंदौली के रहने वाले मनीष यादव की जगह परीक्षा देने पहुंचा था। रवींद्र और मनीष की गिरफ्तारी के बाद पूछताछ में गिरोह का पता चला। गिरोह के बदमाश त्रिवेणी होटल में ठहरे हुए थे। क्राइम ब्रांच ने छापामारी कर ओम प्रकाश निवासी रोहताश बिहार, रमन यादव निवासी मधुबनी, मिथिलेश कुमार निवासी पटना, उपेंद्र राय निवासी सीतामढ़ी को गिरफ्तार कर लिया। यह सभी दूसरे की जगह परीक्षा देने पहुंचे थे। सभी के खिलाफ धूमनगंज थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी क्राइम के मुताबिक, गिरोह का मुखिया चंदौली का बीएस मौर्या है। वह कोचिंग संचालक है। उसकी तलाश में दबिश दी जा रही है। जालसाजों के पास से फर्जी दस्तावेज बरामद हुए हैं।

इलाहाबाद : दारोगा भर्ती परीक्षा में नकल का ठेका Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Staff

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।