बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

दिसंबर 24, 2017

बदलेगा शिक्षा का पैटर्न, लांच होंगे 1500 नए कोर्स, ऑनलाइन ‘स्वयं’ पोर्टल के जरिये पढ़ाए जाएंगे ये सभी कोर्स,इस पोर्टल पर करीब 670 कोर्स पहले से ही हो रहे संचालित

अरविंद पांडेय’नई दिल्ली नई शिक्षा नीति जारी करने से पहले ही सरकार शिक्षा क्षेत्र में बड़े को अंजाम देने में जुट गई है। इनमें एक बड़ा कदम ऑनलाइन शिक्षा को बढ़ावा देने का भी है। फिलहाल इसके लिए 1500 नए कोर्स डिजाइन किए जा रहे हैं, जो अगले तीन महीने के भीतर लांच हो जाएंगे। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म ‘स्वयं’ पोर्टल के जरिये करीब 670 कोर्स पहले से संचालित किए जा रहे हैं।वैसे भी सरकार का लक्ष्य आने वाले दिनों में शिक्षा को ऐसा स्वरूप देना है, जिसमें कोई भी व्यक्ति कभी भी और कहीं से भी पढ़ाई कर सके। मानव संसाधन विकास मंत्रलय और एनसीईआरटी की मदद से तैयार किया गया ‘स्वयं’ पोर्टल इस पूरी मुहिम को दिशा दे रहा है। इसके लिए 10 भाषाओं में भी करीब 300 ऑनलाइन कोर्स डिजाइन किए जा रहे हैं, जो मार्च तक शुरू हो जाएंगे।मंत्रलय का दावा है कि ऑनलाइन शिक्षा जिस तेजी से आगे बढ़ रही है, उसे देखते हुए आने वाले दिनों में ‘स्वयं’ पोर्टल दुनिया में शिक्षा का सबसे बड़ा पोर्टल बन जाएगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले पांच महीनों से भी कम समय में इस पोर्टल के जरिये करीब 18 लाख छात्रों ने अलग-अलग पाठ्यक्रमों में रजिस्ट्रेशन कराया है।

शिक्षकों का ऑनलाइन प्रशिक्षण

सरकार ने देशभर के अप्रशिक्षित शिक्षकों को ट्रेनिंग देने का काम भी ऑनलाइन शुरू किया है। करीब 12 लाख अप्रशिक्षित शिक्षक अब तक प्रशिक्षण के लिए अपना रजिस्ट्रेशन करा चुके हैं।

बदलेगा शिक्षा का पैटर्न, लांच होंगे 1500 नए कोर्स, ऑनलाइन ‘स्वयं’ पोर्टल के जरिये पढ़ाए जाएंगे ये सभी कोर्स,इस पोर्टल पर करीब 670 कोर्स पहले से ही हो रहे संचालित Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Staff

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।