बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 27, 2017

इलाहाबाद : दर्जनों आपत्तियां दर्ज,दिसम्बर में आएगा पीसीएस प्री० का परिणाम

हिन्दुस्तान टीम, इलाहाबाद : लोक सेवा आयोग की पीसीएस प्री 2017 परीक्षा की उत्तर कुंजी पर दर्जनों प्रतियोगी छात्रों ने आपत्तियां दर्ज कराई हैं।

प्रतियोगी छात्रों ने आयोग की ओर से जारी आठ प्रश्नों के उत्तर पर साक्ष्य सहित एतराज जताते हुए इनमें से चार प्रश्नों के उत्तर को बदलने तो चार अन्य प्रश्नों के गलत होने का दावा करते हुए इसे हटाने की मांग की है।

जिन प्रश्नों को हटाने की मांग की जा रही है, उनमें से दो ऐसे हैं, जिनके उत्तर के चार विकल्पों में से दो विकल्प सही हैं इसलिए प्रतियोगी इसे हटाने की मांग कर रहे हैं। वहीं एक प्रश्न ऐसा भी है, जिसके उत्तर के चारों विकल्पों में से एक भी सही नहीं है।आपत्तियां 24 नवम्बर को दिन में पांच बजे तक दर्ज होनी थीं। अब आयोग की ओर से आपत्तियों की जांच के लिए विशेषज्ञों की कमेटी गठित की जाएगी।

कमेटी को प्रतियोगियों की आपत्तियां और उनके द्वारा मुहैया कराए गए साक्ष्य उपलब्ध कराए जाएंगे। कमेटी इसका परीक्षण करने के उपरांत रिपोर्ट देगी। आयोग कमेटी की संस्तुति के मुताबिक, उत्तर कुंजी को संशोधित करते हुए पीसीएस प्री 2017 के ओएमआर का मूल्यांकन करवाएगा। इस पूरी प्रक्रिया में 15 दिन का वक्त लगने की संभावना है।

ऐसे में माना जा रहा है कि सब कुछ सही रहा तो पीसीएस प्री 2017 का परिणाम दिसम्बर के दूसरे या तीसरे सप्ताह में घोषित हो सकता है। जानकारों का मानना है कि उत्तर कुंजी संशोधित होने के बाद ओएमआर के मूल्यांकन में बहुत ज्यादा वक्त नहीं लगता है।

क्योंकि सभी ओएमआर को स्कैन करने के बाद ही आपत्तियां लेने के लिए उत्तर कुंजी जारी की जाती है। 24 सितम्बर को हुई पीसीएस प्री 2017 परीक्षा में कुल पंजीकृत 455297 परीक्षार्थियों में से 246710 यानी 54.19 प्रतिशत शामिल हुए थे ।

इलाहाबाद : दर्जनों आपत्तियां दर्ज,दिसम्बर में आएगा पीसीएस प्री० का परिणाम Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।