बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 27, 2017

लखनऊ : स्कूलों में प्रार्थना के वक्त पढ़ाया जाए संविधान का पाठ,

हिन्दुस्तान टीम,लखनऊ : विद्यालयों में बच्चों को सुबह-सुबह धार्मिक प्रार्थनाओं के स्थान पर संविधान का पाठ पढ़ाया जाना चाहिए। इससे नई पीढ़ी संविधान को लेकर जागरुक होंगे। संविधान के मतलब को समझ पाएंगे।

यह बातें केजीएमयू पल्मोनरी मेडिसिन विभाग के डॉ. संतोष कुमार ने कहीं।वह रविवार को केजीएमयू में संविधान दिवस पर गोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। डॉ. संतोष ने कहा कि राष्ट्र निर्माण के लिए अच्छे नागरिकों की जरूरत है। अच्छे नागरिक बिना संविधान की जानकारी के नहीं बन सकते हैं।

इसलिए राष्ट्र निर्माण के लिए संविधान के बारे में स्कूलों में पढ़ाया जाए। न्यूरोलॉजी विभाग के डॉ. राजेश वर्मा ने चिकित्सा छात्रों में संविधान पर जागरूकता हेतु एक प्रश्नोत्तरी का प्रस्ताव दिया। जिसे सभा द्वारा ध्वनिमत से स्वीकार किया गया।

यह निश्चित किया गया कि विश्वविद्यालय प्रशासन की सहमति से केजीएमयू के सभी छात्रों के बीच संविधान पर बहुविकल्पीय प्रश्नों के माध्यम से एक प्रतियोगिता का आयोजन किया जाएगा। जिसमें प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले प्रतियोगी को 26 जनवरी को सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम में डॉ. सुरेश बाबू, डॉ. पूरनचंद व डॉ. राजकुमार ने सभा को संविधान के अनछुए पहलुओं से अवगत कराया।

लखनऊ : स्कूलों में प्रार्थना के वक्त पढ़ाया जाए संविधान का पाठ, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।