बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 27, 2017

इलाहाबाद : अभ्यर्थियों से वादे के मुताबिक दिसंबर में रिजल्ट जारी करेगा आयोग,यूपीपीएससी ने 4,174 पदों पर भर्ती के लिए 2013 में लिए थे आवेदन,

राज्य ब्यूरो, इलाहाबाद : प्रदेश में अभियंताओं की भारी कमी जल्द ही पूरी होने वाली है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग 4,174 इंजीनियरों की भर्ती के लिए चार साल पहले आवेदन लिए थे। इसका परिणाम आयोग अगले महीने यानी दिसंबर में जारी करेगा। आयोग के वादे के मुताबिक कुछ ही दिन शेष रह जाने से इस परीक्षा के अभ्यर्थियों की बेचैनी बढ़ गई है। 10 दिसंबर के अंदर ही आयोग इसका परिणाम जारी करने की तैयारी में है।

सम्मिलित राज्य अभियंत्रण सेवा परीक्षा-2013, के तहत भर्ती के लिए यूपीपीएससी ने 4,174 पदों पर आवेदन लिए थे। इनमें 952 सहायक अभियंता (सामान्य / विशेष चयन) व 3222 अवर अभियंता (सामान्य / विशेष चयन) के पद पर भर्ती होनी है। इसका परिणाम काफी पहले ही जारी होना था लेकिन, पूर्व की सपा सरकार में आयोग में तैनात रहे अधिकारियों ने लाखों अभ्यर्थियों को निराश किया।

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद अभ्यर्थियों की उत्सुकता बढ़ी और सभी परीक्षा परिणाम जारी होने की लगाए आयोग के चक्कर काटने लगे। अगस्त में आयोग के गेट पर सैकड़ों अभ्यर्थियों ने पहुंचकर प्रदर्शन भी किया था जिन्हें उसी समय सिटी मजिस्ट्रेट और आयोग की तरफ से मीडिया प्रभारी ने आश्वास्त किया था कि परिणाम दिसंबर के पहले सप्ताह में जारी कर देंगे।आयोग का वही वादा पूरा होने की घड़ी नजदीक आते ही अभ्यर्थियों की बेचैनी भी बढ़ गई है।

उनका कहना है कि परिणाम रुका होने से भविष्य अधर में है। बेरोजगारी के इस दौर में पढ़ाई के लिए पैसे जुटा पाना काफी मुश्किल हो रहा है, घर से भी आर्थिक सहयोग कब तक लेते रहेंगे। यही बात अभ्यर्थियों ने अगस्त में प्रदर्शन के दौरान आयोग के अधिकारियों से भी कही थी।

अभ्यर्थी हालांकि पहले सप्ताह में ही रिजल्ट की लगाए हैं, जबकि आयोग ने उन्हें धैर्य रखने के लिए कहा है। आयोग के सचिव जगदीश ने बताया कि अभ्यर्थियों को निराश नहीं होने दिया जाएगा, दिसंबर में परिणाम जारी करने की पूरी कोशिश है।

आयोग अगर एक्ट के अनुसार चलेगा तो कोई गड़बड़ी नहीं हो सकती। एक्ट यह कहता है कि कोई भी निर्णय चेयरमैन सहित सभी सदस्यों की बैठक में लिए जाएं। अगर किसी बिंदु पर एक्ट खामोश है तो उस पर भी आयोग की कमेटी को निर्णय लेने का अधिकार है।

रही बात किसी परीक्षा की उत्तर कुंजी जारी करने की तो उत्तर कुंजी तभी बन जाती है जब परीक्षक प्रश्न पत्र बनाते हैं। कायदे से इसे परीक्षा के चार-पांच दिनों बाद जारी कर देना चाहिए।

परीक्षा कैलेंडर भी समय से जारी होना चाहिए ताकि छात्रों की तैयारी सही समय से हो सके। यही शुद्धिकरण है।’प्रो.केबी पांडेय, पूर्व चेयरमैन यूपीपीएससी

इलाहाबाद : अभ्यर्थियों से वादे के मुताबिक दिसंबर में रिजल्ट जारी करेगा आयोग,यूपीपीएससी ने 4,174 पदों पर भर्ती के लिए 2013 में लिए थे आवेदन, Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।