बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 26, 2017

इलाहाबाद : पेंशनर्स ने मांगी कैशलेस चिकित्सा योजना,गर्वनमेंट पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएस वर्मा के नेतृत्व में सोमवार को पेंशनर्स सामूहिक उपवास

जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : गर्वनमेंट पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएस वर्मा के नेतृत्व में सोमवार को पेंशनर्स सामूहिक उपवास पर पूरे दिन बैठे। शासन से बरती जा रही उपेक्षा के विरोध में हीरा वाटिका में बैठे पेंशनर्स ने कड़ी नाराजगी जताई।

इस दौरान वक्ताओं ने कहा कि राज्य पेंशनर्स क्षुब्ध हैं, क्योंकि सरकार द्वारा पं दीनदयाल उपाध्याय राज्य कर्मचारी/पेंशनर्स कैशलेस चिकित्सा योजना लागू करने में अप्रत्याशित विलंब किया जा रहा है।

अध्यक्ष ने कहा कि असाध्य एवं आपातकालीन बीमारियों जैसे हृदय रोग, कैंसर, यकृत रोग व प्रत्यारोपण, गुर्दा रोग, घुटने व कूल्हे का प्रत्यारोपण, प्रोस्टेट ग्लैड सर्जरी, कार्निया प्रत्यारोपण, हिमोरेज, एक्यूट कोरोनरी सिंड्रोम आदि बहुत से ऐसे रोग है जो रिटायर होने के बाद अधिकतर होते है। ऐसे में वर्तमान व्यवस्था मे पेंशनर को इलाज कराने के लिए लाखों रुपये अपने पास से ही पहले किसी प्रकार व्यवस्था कर अस्पतालों में जमा कराने पड़ते हैं।

बाद में बिल-बाउचर मिलने पर मेडिकल रिंबर्समेंट के लिए आवेदन करना पड़ता है। उसके बाद कार्यालयों में कमीशनखोरी को लेकर वृद्ध पेंशनर्स को इधर उधर दौड़ाने का गंदा खेल शुरू हो जाता है।

इन सब परेशानियों और भ्रष्टाचार को दूर करने के लिए कैशलेस चिकित्सा योजना लागू करने की माग शासन से पिछले काफी समय से की जा रही। इस मौके पर प्रमुख रूप से उमेश शर्मा, गोपाल कृष्ण श्रीवास्तव, सुरेंद्र सिह, किशन सिह, डीके वर्मा, एसएन ठाकुर, भगौति प्रसाद, श्यामसुंदर सिह पटेल आदि रहे।

इलाहाबाद : पेंशनर्स ने मांगी कैशलेस चिकित्सा योजना,गर्वनमेंट पेंशनर्स वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष आरएस वर्मा के नेतृत्व में सोमवार को पेंशनर्स सामूहिक उपवास Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Kamal Singh Kripal

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।