बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 09, 2016

सभी एडेड कॉलेजों में लगेगी बायोमिट्रिक अटेंडेंस    

इलाहाबाद
प्रदेश के तकरीबन साढ़े चार हजार सहायता प्राप्त माध्यमिक स्कूलों में पढ़ाई-लिखाई में गुणात्मक सुधार के मकसद से अब शिक्षकों व कर्मचारियों की अटेंडेंस बायोमिट्रिक मशीन से लगेगी।

प्रमुख सचिव माध्यमिक जितेन्द्र कुमार ने 21 अक्तूबर को माध्यमिक शिक्षा निदेशक अमरनाथ वर्मा के उस प्रस्ताव को मंजूरी दे दी है जिसमें मशीनों से अटेंडेंस व्यवस्था शुरू करने की बात थी।

निदेशक ने 16 अगस्त को बायोमिट्रिक मशीन से अटेंडेंस लगवाने का प्रस्ताव भेजा था ताकि शिक्षकों व कर्मचारियों के स्कूल आने-जाने के समय की मानीटरिंग हो सके। पत्र में स्कूलों को अपने संसाधनों से मशीन की व्यवस्था करने को कहा गया है। हालांकि शासन के इस फरमान से शिक्षक संगठनों में आक्रोश है।

क्या कहते हैं अफसर
अशासकीय सहायता प्राप्त माध्यमिक विद्यालयों में बायोमिट्रिक उपस्थिति सुनिश्चित करने की जानकारी हुई है। शासन की मंशा के अनुरूप सभी स्कूलों में यह व्यवस्था कराई जाएगी।

महेंद्र कुमार सिंह, मंडलीय संयुक्त शिक्षा निदेशक माध्यमिक

इनका कहना है
यह व्यवस्था उचित नहीं है। यह शिक्षकों व कर्मचारियों को बंधुआ मजदूर बनाने की योजना है। व्यवस्था सुधारने का यह अभियान उचित नहीं है और हम इसका हर स्तर पर विरोध करेंगे।

सुरेश त्रिपाठी, शिक्षक विधायक
मेरा यह कहना है कि बायोमिट्रिक मशीन खरीदने के लिए सरकार को धन मुहैया कराना चाहिए। एडेड कॉलेजों के साथ-साथ शिक्षा विभाग के सभी कार्यालयों में बायोमिट्रिक मशीन व सीसीटीवी कैमरा लगना चाहिए।

लालमणि द्विवेदी, प्रदेश महामंत्री माध्यमिक शिक्षक संघ ठकुराई गुट

सभी एडेड कॉलेजों में लगेगी बायोमिट्रिक अटेंडेंस     Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।