बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 18, 2016

इलाहबाद : किसे याद आई मासूमों की पढ़ाई स्थानांतरित शिक्षकों की नियुक्ति पर न अफसर गंभीर न शिक्षक


इलाहाबाद
प्रदेश भर में बेसिक शिक्षा परिषद के विद्यालयों की यह जमीनी हकीकत है। अधिकारी शिक्षक तबादलों के पेंच का लाभ उठाते हुए घर बैठे वेतन ले रहे हैं और तमाम स्कूलों में मासूमों की पढ़ाई की सुधि किसी को भी नहीं है। पठन-पाठन ठप है।

बिना पुस्तक बांटे ही छमाही परीक्षाएं भी हो गई हैं। शिक्षकों को विद्यालयों का आवंटन न होने में बेसिक शिक्षा अधिकारियों की कार्यशैली पर अंगुली उठी है, तो खंड शिक्षा अधिकारियों को आदेश न मनवा पाने में वरिष्ठ अफसर ही जिम्मेदार हैं।

प्रदेश के बेसिक शिक्षा परिषद के स्कूलों में तैनात शिक्षकों को इस बार अंतर जिला तबादले का लाभ मिला है।

मंसूबा यह था कि मनचाही जगह पाकर वह बच्चों की शिक्षा पर ध्यान केंद्रित करेंगे लेकिन अफसरशाही की उदासीनता ने इस पर पानी फेर दिया। 15 हजार से अधिक शिक्षक 21 अगस्त को मनचाहे जिलों में भेजे गए थे।

उन्हें 10 सितंबर तक कार्यभार ग्रहण कराने के निर्देश थे, लेकिन दो माह बाद भी सबको विद्यालयों का आवंटन नहीं हो सका है। सैकड़ों शिक्षकों को आवंटन तो हुआ लेकिन घर से स्कूल दूर होने पर वह संशोधन कराने के लिए अवकाश पर चले गए।

बीएसए जिनसे प्रभावित हुए उनका संशोधन कर दिया बाकी शिक्षक अब तक प्रयासरत हैं। ऐसे भी कई जिले हैं जहां अभी नए शिक्षकों की काउंसिलिंग होनी है। इसी तरह शासन की नीति के मुताबिक एक ही जिले या फिर मंडल में तैनात खंड शिक्षा अधिकारियों का तबादला बीते जून में दूसरे मंडल में हुआ था।

96 शिक्षा अधिकारियों को इधर से उधर किया गया। पांच माह बाद भी करीब 24 अधिकारी निर्देशों को ठेंगा दिखाते हुए बिना काम किए वेतन ले रहे हैं। जानते सब हैं फिर भी बड़े अफसरों ने चुप्पी साध रखी है।’

प्रतापगढ़ में नौ जिलों से तबादले पर आए शिक्षकों का पद दुरुस्त किए जाने का आदेश गत 28 अक्टूबर को जारी हुआ। कई और जिलों में अभी विद्यालय आवंटन की प्रक्रिया लंबित। परिणाम कई स्कूल अब तक एकल।

’ प्रदेश के 96 खंड शिक्षा अधिकारियों का तबादला दूसरे जिलों में किया गया। पहले उन्होंने इसका विरोध किया। धीरे-धीरे कुछ मान भी गए। फिर भी करीब 24 बीईओ आदेश को धता बताकर घूम रहे।

20 खंड शिक्षा अधिकारियों ने अभी कार्यभार ग्रहण नहीं किया है। इससे शासन को अवगत करा दिया गया है। आदेश न मानने पर कार्रवाई की जाएगी।
- विनय कुमार पांडेय, अपर निदेशक, बेसिक शिक्षा।

इलाहबाद : किसे याद आई मासूमों की पढ़ाई स्थानांतरित शिक्षकों की नियुक्ति पर न अफसर गंभीर न शिक्षक Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।