बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 06, 2016

अभी तक अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंचे दर्जनों बीएलओ    


लखनऊ।
मतदाता सूची सुधार का काम खत्म होने को है जबकि इस काम को अंजाम तक पहुंचाने वाले दर्जनों बीएलओ (बूथ लेविल ऑफिसर) अभी भी गैरहाजिर हैं।

इनमें से कई तो अपने विभागों से रिलीव होने के बावजूद बीएलओ की जिम्मेदारी नहीं संभाली। ऐसे गैर हाजिर चल रहे बीएलओ के खिलाफ अब वेतन रोकने से लेकर विभागीय कार्रवाई की जा रही है।

वोटर लिस्ट सुधार के लिए 15 सितम्बर से पुनरीक्षण अभियान की शुरुआत से ही बीएलओ का टोटा रहा। कई विभागों ने इस काम में लगाए गए कर्मचारियों को रिलीव नहीं किया तो कई विभागों ने अपने कर्मचारियों को भेजा ही नहीं।

प्रशासन ने जैसे -तैसे कर ऐसे बूथों पर दूसरे कर्मचारियों को लगाया। इस कारण से विशेष वोटर बनो अभियानों के दौरान भी पूर्व, पश्चिम, मध्य, उत्तर समेत अन्य विधानसभाओं के कई बूथों के मतदाताओं को मतदाता बनने से लेकर संशोधन के लिए उसी मतदान केन्द्र के दूसरे बीएलओ को फार्म टिकाना पड़ा। या फिर वीआरसी (मतदाता पंजीकरण केन्द्र) तक जाना पड़ा।

पूर्व व पश्चिम विधानसभा से गायब हैं कई बीएलओ
कुछ विधान सभाओं के ईआरओ ने बीएलओ पूरे कर लिए लेकिन कुछ विधानसभा क्षेत्रों में दर्जनों बीएलओ अभी तक नदारद हैं। सूत्रों की माने तो पूर्व विधानसभा क्षेत्र से करीब डेढ़ दर्जन बीएलओ अपने काम पर नहीं पहुंचे हैं।

वहीं पश्चिम विधानसभा से भी करीब इतने ही बीएलओ नदारद हैं। पूर्व विधानसभा क्षेत्र के ईआरओ व एसीएम -चार संजय पांडे बताते हैं कि गैरहाजिर बीएलओ के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

उनके स्थान पर दूसरे कर्मचारियों को लगाया गया है। कुछ बीएलओ तो अपने विभागों से अवमुक्त होने के बावजूद बीएलओ की ड्यूटी पर नहीं पहुंचे। ऐसे कर्मचारियों के वेतन रोकने व कटौती करने के साथ ही विभागीय कार्रवाई के लिए लिखा गया है।

अभी तक अपनी ड्यूटी पर नहीं पहुंचे दर्जनों बीएलओ     Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।