बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 17, 2016

फाइलों में फंसा यूपी बोर्ड परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण    


इलाहाबाद
यूपी बोर्ड की 2017 हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण फाइलों में फंसकर रह गया है। नीति के अनुसार जिले के परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण 25 अक्तूबर तक जनपदीय समिति को करना था।

केन्द्रों की सूची 5 नवंबर तक वेबसाइट पर अपलोड करके आपत्तियां लेनी थी और आपत्तियों का निस्तारण 12 नवंबर तक करना था।

लेकिन अब तक जनपदीय समिति से ही केन्द्र फाइनल नहीं हो सके हैं। यही कारण है कि केन्द्रों की सूची न तो वेबसाइट पर अपलोड की गई और न ही आपत्तियां ली जा सकीं।

12 अक्तूबर को जारी बोर्ड की नीति के अनुसार केन्द्रों का निर्धारण कर 20 नवंबर तक मंडलीय समिति को भेजना है। हाईकोर्ट ने भी 30 नवंबर तक केन्द्र तय करने के आदेश दिए हैं।

लेकिन जिस तरह से काम चल रहा है उसमें समय से केन्द्रों का फाइनल होना लगभग असंभव है। माना जा रहा है कि डीएम संजय कुमार से संस्तुति मिलने के बाद परीक्षा केन्द्रों की सूची एक-दो दिन में वेबसाइट अपलोड कर दी जाएगी।

घटे परीक्षार्थी लेकिन बढ़ गए परीक्षा केन्द्र
इलाहाबाद। जिले में हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षार्थियों की संख्या कम होने के बावजूद केन्द्रों की संख्या बढ़ गई है।

इस साल 10वीं के लिए 67,657 बालक व 54,483 बालिका और 12वीं के लिए 61,408 बालक व 50,846 बालिका पंजीकृत हैं। कुल 2,34,394 परीक्षार्थी दोनों परीक्षा के लिए पंजीकृत हैं।

यह संख्या पिछले साल की तुलना में तकरीबन 18 हजार कम है। लेकिन इसके बावजूद परीक्षा केन्द्रों की संख्या पिछले साल के 488 से बढ़ाकर 497 कर दी गई है। सूत्रों के अनुसार प्राइवेट स्कूलों ने केन्द्र बनाने के लिए अच्छी-खासी रकम खर्च की है।

फाइलों में फंसा यूपी बोर्ड परीक्षा केन्द्रों का निर्धारण     Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।