बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 12, 2016

कानपुर : बोर्ड परीक्षा सेंटर का सॉफ्टवेयर हुआ फेल    


कानपुर
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल और इण्टरमीडिएट परीक्षा के केन्द्रों का निर्धारण पहली बार एक विशेष सॉफ्टवेयर से किया जा रहा है। यह शुरुआत में ही फेल हो गया।

ऐसे में नगर के परीक्षा केन्द्रों की सूची अपलोड नहीं हो सकी। 12 नवंबर तक बोर्ड ने आपत्तियां दर्ज कराने की अन्तिम तिथि तय की थी लेकिन अब इसे बढ़ाया जाएगा।

नगर के परीक्षा केन्द्रों की लिस्ट चस्पा करने से पहले इसे एक खास साफ्टवेयर में अपलोड करनी होगी। सॉफ्टवेयर तय करेगा कि परीक्षा केन्द्र तय मानकों के अनुरुप हैं या नहीं।

अगर सूची में किसी तरह की तकनीकी समस्या होगी तो वह सेंटर स्वीकृत नहीं होंगे। यहां से लिस्ट फाइनल होने के बाद उसे स्थानीय स्तर पर वेबसाइट पर अपलोड किया जाएगा।

223 सेंटर बनाए गए : बोर्ड परीक्षा के लिए 223 सेंटर बनाए गए हैं। इनमें किन विद्यालयों के छात्रों को परीक्षा देने आना होगा उसकी सूची भी तैयार कर ली गई है। दो बिन्दुओं पर विद्यालयों से आपत्ति मांगी जाएगी।

एक तो केन्द्र के बारे में और दूसरे जिन विद्यालयों के सेंटर पड़े हैं उनकी। इन आपत्तियों में सेंटरों की अधिक दूरी, मानकों का पालन न करने वाले केन्द्र अथवा अन्य कारणों का पता चल सकेगा।

साफ्टवेयर करेगा जांच : बोर्ड परीक्षा केन्द्र निर्धारण के लिए बनाए गए साफ्टवेयर से क्लियर होने के बाद ही जनपदीय समिति केन्द्रों की अन्तिम सूची तय करेगी। इसे मण्डलीय समिति को भेजा जाएगा।

मण्डलीय समिति आपत्तियां लेने के बाद सेंटर लिस्ट जारी करेगी। इसे बोर्ड स्वीकार करेगा। बोर्ड अगर चाहे तो अपने स्तर पर इसमें बदलाव कर सकता है।

बढ़ेगी अन्तिम तिथि : बोर्ड के नियमानुसार पांच नवंबर को सूची अपलोड की जानी थी और 12 तक आपत्तियां मांगी जानी थीं। अब सूची अपलोड होने के बाद अधिकतम एक सप्ताह का समय आपित्तयों के लिए दिया जाएगा।

कानपुर : बोर्ड परीक्षा सेंटर का सॉफ्टवेयर हुआ फेल     Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।