बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 09, 2016

बदल दिया स्कूलों ने समय, छोटे बच्चों की जल्दी छुट्टी    


मेरठ।
बदलते मौसम के चलते जिला प्रशासन ने स्कूलों का समय बदल दिया है। डीएम के आदेशानुसार स्कूलों का समय नौ बजे से तीन बजे तक कर दिया गया है।

वहीं कुछ पब्लिक स्कूलों ने अपनी सुविधा अनुसार स्कूल की छुट्टी का समय अपने अनुसार तय किया है, लेकिन सभी ने तीन बजे तक स्कूल की छुट्टी कर दी है।

दीवान पब्लिक स्कूल के प्रधानाचार्य एचएम राउत ने बताया कि उन्होंने अपना स्कूल दो बजे तक रखा है, ताकि बच्चे समय से घर पहुंचकर दोपहर का भोजन प्राप्त कर सके।

वहीं केएल ने भी अपने अनुसार ही तीन बजे तक अवकाश किया है और सभी स्कूलों ने छोटे बच्चों की छुट्टी जल्दी कर दी है। इसके अलावा जेडी व डीआईओएस ने सभी सभी सीबीएसई और आईसीएसई बोर्ड के स्कूलों को डीएम के आदेश को प्रेषित करते हुए समय बदलने को कहा है।

वहीं सहोदय के सचिव राहुल केसरवानी ने बताया के कि डीएम के आदेशानुसार सभी स्कूल अपना समय बदल रहे हैं।

सेंट मेरीज-9.00 से 3.00 बजे तक
द अध्ययन
नर्सरी, एलकेजी, यूकेजी-10 बजे से 12.45 बजे तक
कक्षा एक दस तक-9 बजे से 2.15 बजे तक
दीवान पब्लिक स्कूल-9 बजे से 2.00 बजे तक
द बेस दीवान पब्लिक स्कूल-9.42 बजे से 1.00 बजे तक
केएल इंटरनेशनल स्कूल
नर्सरी-9.40 से 12.50 बजे तक
एलकेजी व यूकेजी-9.00 बजे से 12.50 बजे तक
कक्षा एक से 12 तक-9.00 बजे से 2.40 बजे तक
बीडीएस
केजी सेक्शन-9.00 बजे से 12.30 बजे तक
कक्षा एक से 12 तक-9.00 बजे से 2.30 बजे तक
गार्गी गर्ल्स स्कूल
नर्सरी से यूकेजी तक-9 से 12.30 बजे बजे तक
कक्षा एक से 12 तक- 9 से 2.00 बजे तक
एमपीएस ग्रुप
केजी सेक्शन-9.00 बजे से 12.30 बजे तक
सीनियर सेक्शन-9.00 बजे से 2.15 बजे तक
विद्या ग्लोबल स्कूल
नर्सरी से केजी-9.00 बजे से 12.30 बजे तक
कक्षा एक से 12 तक-9.00 बजे से 3.00 बजे तक
शांति निकेतन-9.00 से 3.00 बजे तक

बदल दिया स्कूलों ने समय, छोटे बच्चों की जल्दी छुट्टी     Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।