बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 17, 2016

डिग्री कॉलेजों में बीते आठ वर्ष कोई भर्ती नहीं


प्रदेश के अशासकीय डिग्री कॉलेजों में 2008 के बाद असिस्टेंट प्रोफेसर और प्राचार्य के खाली पदों पर भर्ती नहीं हो सकी है।

डिग्री कॉलेजों में शिक्षकों की भर्ती के लिए गठित उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग के लगातार विवादों में होने के कारण भर्ती फंसी रही।चयन प्रक्रिया ठप होने के कारण डिग्री कॉलेजों में शिक्षण कार्य बाधित हो रहा है।

उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग कभी अपने ओर से शिक्षकों के पदों के लिए किए विज्ञापन तो कभी अध्यक्ष एवं सदस्यों की योग्यता को लेकर विवादों में रहा।

आयोग की ओर से असिस्टेंट प्रोफेसर के पदों पर भर्ती केलिए निकलने वाले पदों को लेकर कोर्ट में याचिका दाखिल होने के कारण विज्ञापन ही सवालों के घेरे में आ गया। विज्ञापन संख्या 43 एवं 44 को लेकर विवाद बना रहा।

प्रदेश सरकार की ओर से आयोग में नियुक्त होने वाले सदस्यों एवं अध्यक्ष की योग्यता को लेकर मानक का पालन नहीं किए जाने के कारण अध्यक्ष एवं सदस्यों की नियुक्ति ही निरस्त हो गई।

वर्तमान समय में प्रदेश में आठ हजार से अधिक असिस्टेंट प्रोफेसर के पद रिक्त हैं। इसमें 7600 रिक्त पदों के लिए शासन से अनुमोदन मिल चुका है। इन पदों में 1652 एवं 1150 पदों के लिए आवेदन मांगे जा चुके हैं। शेष पदों केलिए विज्ञापन बाद में मांगा जाएगा।

प्रदेश में 390 अशासकीय डिग्री कॉलेज हैं, शेष वित्तविहीन हैं। उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग में इन दिनों अध्यक्ष और एक सदस्य को छोड़कर सभी सदस्यों के पद खाली हैं। एक मात्र सदस्य डॉ. रामेंद्र बाबू का कार्यकाल 21 नवंबर को पूरा हो रहा है।

शासन स्तर पर आयोग में सदस्यों के खाली पदों के लिए आवेदन मांगे जाने केबाद भी सदस्यों की घोषणा नहीं हो सकी है। इससे पूर्व में आयोग केअध्यक्ष डॉ. लाल बिहारी पांडेय एवं सदस्यों डॉ. अजब सिंह यादव, डॉ. रामबीर सिंह यादव, डॉ. एके सिंह एवं डॉ. रूदल यादव को पद के योग्य नहीं होने केकारण हटा दिया गया था।

डिग्री कॉलेजों में बीते आठ वर्ष कोई भर्ती नहीं Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।