बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 05, 2016

नए-पुराने विद्यालयों को जल्द मिलेंगे शिक्षक,एलटी ग्रेड भर्ती: 483 स्कूलों में होगी तैनाती


इलाहाबाद : विधानसभा चुनाव के समय शिक्षक भर्ती के मौके रह-रहकर सामने आ रहे हैं। एलटी ग्रेड शिक्षकों की प्रदेश स्तरीय भर्ती का अभी एलान भी नहीं हो सका था कि राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान में ही करीब तीन हजार से अधिक पद भरे जाने का आदेश हो गया है।

विभागीय अफसर सूबे के नए एवं पुराने विद्यालयों को नई भर्ती करके शिक्षक देने की तैयारी में जुटे हैं।

शासन ने पिछले माह राजकीय स्कूलों में एलटी ग्रेड शिक्षकों की भर्ती नियमावली में बदलाव किया है। इसी के साथ ही प्रदेश में राष्ट्रीय माध्यमिक शिक्षा अभियान के तहत 483 नये विद्यालय खोले जाने की स्वीकृति मिल गई है।

इन स्कूलों में एक प्रधानाध्यापक व पांच सहायक अध्यापक नियुक्त किया जाना है। अफसरों की मानें तो इन स्कूलों के लिए नई भर्ती कराकर ही एलटी ग्रेड शिक्षक दिए जाएंगे। इसके अलावा सूबे में इसी अभियान के तहत 1021 विद्यालय पहले से संचालित हैं।

वहां भी बड़ी संख्या में पद खाली होने की सूचनाएं मिल रही हैं। अफसरों ने सभी स्कूलों से खाली शिक्षक पदों की सूचना मांगी है, ताकि उसी के सापेक्ष भर्ती कराने का शासन से अनुमोदन लिया जा सके। इस तरह करीब तीन हजार से अधिक शिक्षकों के पद जल्द भरा जाना है।

अपर शिक्षा निदेशक माध्यमिक रमेश ने बताया कि जैसे ही खाली पदों का ब्योरा उपलब्ध होता है, प्रक्रिया आगे बढ़ाई जाएगी। यह भर्तियां नये प्रारूप के अनुसार होंगी।

एलटी ग्रेड के पद पर होगा प्रमोशन : सूबे के तमाम ऐसे राजकीय माध्यमिक स्कूलों हैं, जहां पर कक्षा एक से लेकर इंटरमीडिएट तक की पढ़ाई होती है। कुल 76 विद्यालयों में लगभग 150 से अधिक बीटीसी शिक्षक तैनात हैं। इनका एलटी ग्रेड के पद पर प्रमोशन होना है।

नए-पुराने विद्यालयों को जल्द मिलेंगे शिक्षक,एलटी ग्रेड भर्ती: 483 स्कूलों में होगी तैनाती Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।