बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

नवंबर 12, 2016

4,600 शिक्षकों को यूपी सरकार ने दी बढ़े वेतन की सौगात


राज्य सरकार नगर निकायों के प्राथमिक स्कूलों के शिक्षकों को बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों के समान वेतन देगी। इस संबंध में निदेशक स्थानीय निकाय ने सभी 190 निकायों को सप्ताह भर के भीतर प्रस्ताव भेजने को कहा है। सरकार के इस फैसले से विभिन्न निकायों में पढ़ा रहे लगभग 4,600 शिक्षकों को फायदा मिलेगा।

बता दें, निकाय के प्राथमिक स्कूलों में वर्षों से पढ़ा रहे अधिकतर शिक्षकों को बहुत कम वेतन मिल रहा है, जबकि उसी स्तर के बेसिक शिक्षा परिषद के शिक्षकों को इनसे अधिक वेतन मिल रहा है।

निकायों द्वारा संचालित स्कूलों के शिक्षक इसी विषमता को दूर करने की मांग कई वर्ष से कर रहे हैं। इस संबंध में सरकार और शासन के साथ शिक्षक संगठनों के प्रतिनिधियों की कई बार बैठकें भी हुईं, लेकिन कोई फैसला नहीं हुआ।

पिछले दिनों जब यह मामला मुख्यमंत्री तक पहुंचा तो उन्होंने जल्द से जल्द से इसका निपटारा करने का आदेश दिया था।

9300-34800 और ग्रेड-पे 4200 लागू करने की मांग
बेसिक शिक्षा परिषद के गठन के बाद निकायों द्वारा संचालित अधिकतर विद्यालयों का हस्तानांतरण परिषद को कर दिया गया था। इसके बावजूद निकायों द्वारा आज भी प्राथमिक विद्यालयों का संचालन किया जा रहा है।

इन विद्यालयों के शिक्षकों का वेतन निकायों के बोर्ड निर्धारित करते हैं, जो परिषदीय शिक्षकों को दिए जाने वाले वेतन की तुलना में काफी कम है। इसलिए निकायों के प्राथमिक विद्यालयों के शिक्षक 9300- 34800 और ग्रेड-पे 4200 लागू करने की मांग कर रहे हैं।

पहले भी निकायों से मांगा गया था प्रस्ताव बता दें, शासन स्तर से निकायों को इस संबंध में पहले भी कई बार प्रस्ताव भेजने के लिए कहा गया था, लेकिन किसी निकाय ने नहीं भेजा।

इस बार चूंकि मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश पर प्रस्ताव मांगा गया है। ऐसे में उम्मीद की जा रही है कि सभी 190 निकाय जल्द से जल्द प्रस्ताव भेज देंगे।

4,600 शिक्षकों को यूपी सरकार ने दी बढ़े वेतन की सौगात Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।