बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 24, 2016

रामपुर में सीआरपीएफ भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, दो गिरफ्तार

रामपुर।
सीआरपीएफ भर्ती परीक्षा का पेपर रामपुर में लीक हो गया। सीआरपीएफ अधिकारियों ने दो परीक्षार्थियों को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। एक आरोपी का भाई सीआरपीएफ नागपुर में तैनात है।

आरोप है कि उसने अपने भाई की परीक्षा में मदद के लिए अपने ही पड़ोसी एवं आवेदक सुलेमान के मोबाइल पर व्हट्सएप मैसेंजर के जिरए पेपर भेजा था। शहर कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी गई है। सीआरपीएफ में हवलदार पद के लिए भर्ती प्रक्रिया चल रही है।

पूर्व में आवेदन मांगे गए थे, शारीरिक दक्षता के बाद रविवार को लिखित परीक्षा थी। रामपुर में भी 40 केन्द्रों पर परीक्षा हुई, जिन पर 19 हजार आवेदक थे। इसी दौरान सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर रामपुर के अधिकारियों को गोपनीय सूचना मिली कि दो युवकों पर आपत्तिजनक कुछ मिल सकता है।

इस पर डिप्टी कमांडेंट सुधीर कुमार शहर के परीक्षा केन्द्र कन्या इंटर कालेज खारी कुआं पहुंचे और इमरान एवं सुलेमान की तलाशी ली। कुछ न मिलने पर उनका बैग मंगाकर खंगाला गया। सुलेमान का मोबाइल चेक किया, जिसमें पता चला कि उसके व्हट्सएप पर नागपुर से पेपर भेजा गया है।

आरोप है कि उसने खुद भी देखा और अपने साथी इमरान को भी पेपर दिखाया। परीक्षा से ही दोनों को पकड़ लिया गया और शहर कोतवाल रजनीकांत कटारा को सौंप दिया। दोनो आरोपियों के खिलाफ डिप्टी कमांटेंड की ओर से रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है।

आरोपी मुरादाबाद जनपद की तहसील ठाकुरद्वारा क्षेत्र के गांव शरीफ नगर के रहने वाले हैं। इमरान का भाई वसीम सीआरपीएफ नागपुर में तैनात है। आरोपियों ने बताया है उसी ने उन्हें पेपर भेजा है। पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है।

रजनीकांत कटारा, इंस्पेक्टर, शहर कोतवाली
गोपनीय जानकारी मिलने पर शक के आधार पर आवेदकों की तलाशी ली गई। फिलहाल पूरा मामला सिविल पुलिस को सौंप दिया गया है। जांच के बाद ही स्थिति क्लीयर हो सकेगी।
प्रवीन कुमार, डीआईजी सीआरपीएफ ग्रुप सेंटर

रामपुर में सीआरपीएफ भर्ती परीक्षा का पेपर लीक, दो गिरफ्तार Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।