बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

अक्तूबर 18, 2016

*विधान भवन के सामने शिक्षा प्रेरकों पर लाठीचार्ज*


लखनऊ।
विधान भवन के सामने प्रदर्शन कर रहे शिक्षा प्रेरकों पर सोमवार को पुलिस ने जम कर लाठियां भांजीं। पुलिस ने उन्हें सड़क पर दौड़ा-दौड़ा कर पीटा।

आक्रोशित शिक्षकों ने पुलिस बस का शीशा तोड़ दिया। करीब एक घंटे चले हंगामे के बाद प्रदर्शनकारियों को लक्ष्मण मेला मैदान खदेड़ दिया गया।

वे लोग शिक्षणेतर कर्मचारी के पद पर समायोजन समेत नौ सूत्री मांगों को लेकर बीते 24 दिन से लक्ष्मण मेला मैदान में प्रदर्शन कर रहे थे।

सुबह से ही वे टुकड़ियों में लक्ष्मण मेला मैदान से निकल कर दारुलशफा में एकजुट होने लगे। दोपहर करीब 12 बजे वे आदर्श लोक शिक्षा प्रेरक वेलफेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष सतेन्द्र यादव के नेतृत्व में विधान भवन की ओर चल दिए।

बड़ी संख्या में प्रदर्शनकारियों के विधान भवन के सामने पहुंचते ही हड़कंप मच गया। पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर प्रदर्शनकारियों को सड़क के एक तरफ कर दिया। प्रदर्शनकारी बैरिकेडिंग तोड़ कर आगे बढ़ने का प्रयास करने लगे।

हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने लाठियां भांजना शुरू कर दिया। लाठियां चलते ही भगदड़ मच गई। हजरतगंज चौराहे तक प्रदर्शनकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा गया। लाठीचार्ज में कुछ लोगों को चोटें भी आई हैं।

इसके बाद सभी लोग वापस लक्ष्मण मेला मैदान पहुंच कर धरने पर बैठ गए। प्रदर्शनकारियों का कहना है कि मांग पर शासनादेश जारी होने के बाद ही आन्दोलन समाप्त होगा। इस दौरान पवन सिंह, सुनील दीक्षित, रामबख्श यादव और जवाहर शर्मा आदि शामिल थे।

ये हैं प्रमुख मांगें
परिषदीय विद्यालयों में शिक्षणेतर कर्मचारी पद पर समायोजित किया जाए।

मानदेय दो हजार से बढ़ाकर 15 हजार रुपये किया जाए।

बकाया 24 माह का भुगतान किया जाए।

शिक्षा प्रेरकों का मानदेय अन्य विभागों की तरह ऑनलाइन किया जाए

*विधान भवन के सामने शिक्षा प्रेरकों पर लाठीचार्ज* Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।