बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 19, 2016

महीने में दो बार देना होगा ब्योरा और एक बार भरना होगा रिटर्न

इलाहाबाद
जीएसटी लागू होने पर सबसे बड़ा संशय ये है कि इसमें महीने में तीन बार रिटर्न भरना होगा। ऐसा नहीं है। जीएसटी लागू होने के बाद हर महीने की 10 तारीख को क्या बेचा इसकी जानकारी देनी होगी, 15 तारीख को अपनी खरीद का ब्योरा भरना होगा और इस पर कितना कर देना है यानी रिटर्न 20 तारीख को देना होगा।

ये बातें वित्त एवं कर सलाहकार वा केन्द्र सरकार की ओर से जीएसटी के लिए तैनात मास्टर ट्रेनर पवन जायसवाल ने इलाहाबाद में द इंस्टीट्यूट ऑफ कंपनी सेक्रेटरीज ऑफ इंडिया के सेमिनार में कहीं। उन्होंने कहा कि 10 व 15 तारीख को जो डेटा देना है ये सामान्य तौर पर एक एकाउंटेंट से मिल जाएगा जिसे केवल सर्वर में फीड करना है।

इस पर कर का भुगतान महीने की 19 तारीख को करना होगा या 20 तक बताना होगा कि इस पर कितना कर दिया। 31 दिसंबर को एनुअल रिटर्न भरना होगा। उन्होंने कहा कि रिटर्न सभी को भरना होगा। जीएसटी कानून में हर प्रकार की सेवा, उत्पादन यहां तक कि किराए पर दी गई संपत्ति भी शामिल होगी।

लोगों को संशय है कि एक अप्रैल से इसके लागू होने के बाद जो कर दिया जा चुका है, वो खत्म हो जाएगा। ऐसा नहीं है। वस्तु पर दिया गया कर भी मालूम होगा। रजिस्ट्रेशन को लेकर उठ रहे सवालों पर उन्होंने कहा कि रजिस्ट्रेशन हर उस राज्य में कराना होगा जहां पर सेवा या उत्पादन दे रहे हैं।

अगर कोई भारत के 29 राज्यों में वस्तु की सेवा दे रहा है तो उसे 29 राज्यों में रजिस्ट्रेशन कराना होगा। हां ये ध्यान देने वाली बात है कि इंफोसिस एक ऐसा सॉफ्टवेयर बना रही है जिससे नंबर से सारी जानकारी मिल जाएगी।

अगर किसी ने एक जगह अपना रजिस्ट्रेशन कराया है तो उसकी जानकारी दूसरी जगह आवेदन करने के दौरान एजेंसी को मिल जाएगी। जिससे हर राज्य में रजिस्ट्रेशन आवेदन में गलती की संभावना कम होगी। डॉ. जायसवाल ने कहा कि रजिस्ट्रेशन का तरीका भी आसान है।

एक आवेदन फॉर्म पर ऑनलाइन कुछ ब्योरा आज देना होगा। इससे जुड़ी क्वेरीज अगले दिन मेल पर आ जाएगी और इसका जवाब देते ही तीसरे दिन रजिस्ट्रेशन नंबर भी आ जाएगा। ये सावधानी बरतेंजीएसटी के दायरे में आने के बाद लोगों को कुछ सावधानियां बरतनी होंगी।

हर महीने का रिटर्न आवश्यक रूप से भरना होगा। अगर आपने ऐसा नहीं किया तो अगले महीने का रिटर्न नहीं भरा जाएगा और एक दिन की पैनाल्टी 100 रुपए देय होगी। उन्होंने कहा कि इसके साथ ही गलत रिटर्न नहीं भरना है।

दी जाने वाली जानकारी एकदम सही होनी चाहिए। अगर आपने गलत रिटर्न भरा तो इसके लिए कोई व्यवस्था नहीं है। हां सुधार कर सकते हैं। इसके लिए वार्षिक रिटर्न फाइल करते समय ऑप्शन दिया जाएगा

महीने में दो बार देना होगा ब्योरा और एक बार भरना होगा रिटर्न Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।