बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 17, 2016

डायट पर जिलाधिकारी का छापा, मिली खामी

जौनपुर,राजकीय जिला शिक्षण प्रशिक्षण संस्थान में छापेमारी कर अभिलेखों की जांच करते डीएम भानुचंद्र गोस्वामी। जिलाधिकारी भानुचंद्र गोस्वामी ने शुक्रवार को दोपहर जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान (डायट) में औचक छापेमारी की।

इस दौरान संस्थान की तमाम खामियां उजागर हुई। डायट प्राचार्य के कक्ष से कुछ पर्चियां डीएम के हाथ लगी हैं जिससे बीटीसी प्रशिक्षुओं के कालेज आवंटन में लेनदेन की शिकायत को बल मिला है।

छापेमारी के दौरान डायट  में हड़कंप मचा रहा। बीटीसी के लिए काउंसिलिंग के बाद अभ्यर्थियों को कालेज का आवंटन किया जा रहा है। बीटीसी प्रशिक्षु अपने मन पसंद कालेज में दाखिला के लिए जोर जुगाड़ लगा रहे हैं।

इसकी शिकायत सोमपाल सिंह नामक एक अभिभावक और माध्यमिक शिक्षक संघ के प्रदेश मंत्री रमेश सिंह ने जिलाधिकारी से की थी।

शिक्षक नेता ने डीएम से शिकायत में कहा था कि निजी कालेजों में दाखिला के लिए अभ्यर्थियों को मन पसंद वाले कालेज एलाट करने के लिए डायट के कर्मचारी पांच से 10 हजार रुपये की वसूली खुले आम कर रहे हैं। शिक्षक नेता ने दोषियों के खिलाफ जांच कर कार्रवाई की मांग की थी।

उन्होंने यह भी शिकायत की थी कि परिसर में अराजकता का माहौल हौ। इसे गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी शुक्रवार को दोपहर अचानक  डायट पहुंच गए। उन्होंने डायट के एक एक कक्ष का निरीक्षण किया। डायट प्राचार्य के कक्ष से जिलाधिकारी को कुछ पर्चियां मिली हैं।

आशंका जताई गई है कि इन पर्चियों का सरोकार दाखिला के लिए कालेजों के आवंटन में धांधली से होगा। पर्चियों को डीएम ने कब्जे में ले लिया है।

आरोप है कि प्रशिक्षण ले रहे अभ्यर्थियों के माध्यम से यहां निजी कालेजों के आवंटन में धांधली की जाती है। जिले में 45 निजी बीटीसी कालेजों में कुल 2250 सीटें है।

डायट पर जिलाधिकारी का छापा, मिली खामी Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।