बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 13, 2016

राज्यकर्मियों का कोनाः आधार लिंक न होने पर लटक सकती है पेंशन

लखनऊ
लाखों पेंशनरों को सरकार से मिलने वाली पेंशन लटक सकती है। इन लाभार्थियों का आधार नम्बर अभी तक उनकी पेंशन योजनाओं के पोर्टल से लिंक नहीं हुआ है। सरकार के नए निर्देशों के मुताबिक पेंशन का भुगतान बिना आधार नम्बर के नहीं किया जाएगा।

इसके बाद से विभाग पेंशनरों का आधार नम्बर लेने में जुट गए हैं। इस वर्ष पहली पेंशन किस्त का भुगतान एक जुलाई से शुरू होगा।

समाजवादी, वृद्धावस्था, निराश्रित महिला (विधवा) और विकलांग पेंशन में आधार नम्बर को अनिवार्य कर दिया गया है। मौजूदा समय में इन चारों सामाजिक पेंशन के लाभार्थियों की संख्या करीब 2,15,654 है।

इनमें से अभी तक मात्र 28,590 पेंशनरों के आधार नम्बर ही पेंशन पोर्टल से जोड़े जा सके हैं। यानी करीब 13 फीसदी पेंशनरों का आधार ही पोर्टल से जुड़ा है।अभी तक समाजवादी पेंशन में सबसे अधिक करीब 20 हजार लाभार्थियों का आधार लिंक हुआ है।

अन्य पेंशन योजनाओं में यह आंकड़ा मात्र 10 फीसदी है। जिला समाज कल्याण अधिकारी केएस मिश्रा बताते हैं कि इस वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही की पेंशन किश्त का भुगतान तभी हो सकेगा जब पेंशन पोर्टल से आधार संख्या जोड़ दी जाएगी। जिन पेंशनरों का आधार लिंक नहीं हो पाएगा उनकी पेंशन रुक जाएगी।

पेंशनर यहां जमा करें आधार
लाभार्थियों के आधार नम्बर जुटाने के लिए प्रशासन ने कई कदम उठाए हैं। ग्रामीण क्षेत्र के पेंशनर आधार कार्ड व बैंक खाते की कॉपी, एक फोटो व मोबाइल नम्बर अपनी पंचायत सचिव को दे सकते हैं। जबकि शहरी क्षेत्र के लाभार्थी इसे नगर पंचायत कार्यालय या नगर निगम में जमा कराएं।

इसके अलावा पेंशनर कलेक्ट्रेट के कमरा नम्बर 49, इंदिरा नगर स्थित विकास भवन के कमरा नम्बर पांच में भी सुबह 10 से पांच तक इसे जमा कर सकते हैं। समाज कल्याण, विकलांग कल्याण व प्रोबेशन अधिकारी कार्यालय में जाकर भी लोग आधार नम्बर लिंक करा सकते हैं।

राज्यकर्मियों का कोनाः आधार लिंक न होने पर लटक सकती है पेंशन Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।