बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 18, 2016

शासन ने उपस्थिति अभियान चलाने के दिए निर्देश, पाक्षिक रिपोर्ट भी भेजी जाएगी,स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने को अभिभावकों को प्रोत्साहित करेंगे शिक्षक

इलाहाबाद :
स्कूलों में छात्रों की शत प्रतिशत हाजिरी के लिए शिक्षा विभाग अब ‘उपस्थिति अभियान’ चलाएगा। इस अभियान की पाक्षिक रिपोर्ट भी शासन को भेजी जाएगी। दरअसल, बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने के लिए शासन ने यह योजना बनाई है।

बच्चे स्कूल क्यों नहीं आते हैं, शिक्षक संबंधित बच्चों के अभिभावकों से मुलाकात कर स्कूल नहीं आने के कारणों का पता लगाएंगे। साथ ही बच्चों को समय से स्कूल भेजने के लिए अभिभावकों को प्रोत्साहित करेंगे।

दरअसल, शासन को प्रदेश के विभिन्न जिलों से स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम होने की रिपोर्ट मिल रही है। ऐसे में बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए शासन ने सभी जिलों के बेसिक शिक्षा अधिकारियों को उपस्थिति अभियान चलाने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि स्कूलों में मिड डे मील, मुफ्त किताबें, फल और यूनीफार्म वितरण समेत कई सुविधाएं देने के बाद भी बच्चों की संख्या अपेक्षा के मुताबिक नहीं बढ़ पा रही है। जो अफसरों के लिए भी सिरदर्द बना है।

बेसिक शिक्षा अधिकारी जयकरन यादव ने बताया कि जिन अभिभावकों ने अपने बच्चों का सरकारी स्कूलों में दाखिला कराया है और उनके बच्चे स्कूल नहीं आ रहे हैं। उन बच्चों के अभिभावकों को संबंधित स्कूल के शिक्षक घर जाकर उन्हें प्रोत्साहित करेंगे कि वह अपने बच्चे को प्रतिदिन स्कूल भेजें।

बताया कि इस अभियान के बावजूद जिन स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति कम पाई जाएगी, वहां के प्रधानाध्यापक के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।शासन ने उपस्थिति अभियान चलाने के दिए निर्देश, पाक्षिक रिपोर्ट भी भेजी जाएगी

शासन ने उपस्थिति अभियान चलाने के दिए निर्देश, पाक्षिक रिपोर्ट भी भेजी जाएगी,स्कूलों में बच्चों की उपस्थिति बढ़ाने को अभिभावकों को प्रोत्साहित करेंगे शिक्षक Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।