बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 14, 2016

जूनियर हो जाएंगे एलटी ग्रेड शिक्षक, प्रमोशन टला

इलाहाबाद : प्रदेश भर के राजकीय एलटी ग्रेड (पुरुष संवर्ग) शिक्षकों का एक बार फिर प्रमोशन टल गया है। यह दूसरा मौका है जब विभाग में पदोन्नति सूची जारी हुई और एलटी ग्रेड पुरुष शिक्षकों को लाभ नहीं मिल सका है।

इससे सूबे के करीब 300 से अधिक शिक्षकों का पद के साथ धन का दोहरा नुकसान तो ही रहा है, वह अपने साथियों से जूनियर होते जा रहे हैं।

राजकीय कालेजों के शिक्षकों के प्रमोशन की प्रक्रिया 19 दिसंबर 2014 को शुरू हुई थी। सभी मंडलों से गोपनीय आख्या तलब की गई, इसमें तीन मार्च 2015 तक रिपोर्ट भेजना था, लेकिन 13 जनवरी 2015 को शिक्षा निदेशालय की ओर से पत्र जारी करके प्रक्रिया पर रोक लगा दी गई थी।

उसमें एलटी ग्रेड शिक्षकों एवं प्रवक्ताओं की दस वर्ष 2004-05 से 2014-15 तक की गोपनीय आख्या मांगी गई थी। एक साल की ऊहापोह के बाद शासन जनवरी में रुकी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने पर सहमत हो गया और नए सिरे से मंडलों से आख्या मांगी गई।

उस समय भी जारी हुई प्रमोशन सूची में एलटी ग्रेड पुरुष शिक्षकों को शामिल नहीं किया था। माध्यमिक शिक्षा निदेशक अमरनाथ वर्मा ने नया शैक्षिक सत्र शुरू होने के बाद जून में ही प्रमोशन सूची जारी करने का आदेश दिया।

वह सूची सोमवार को जारी हुई, इस बार भी एलटी ग्रेड पुरुष संवर्ग फिर हाशिए पर रहा। दो मौके चूकने पर करीब 300 शिक्षक अपने साथियों से जूनियर हो गए हैं। साथ ही पद एवं पैसे का नुकसान हुआ सो अलग।

माध्यमिक शिक्षा विभाग का कहना है कि वरिष्ठता का विवाद होने के कारण एलटी ग्रेड पुरुष संवर्ग को रोका गया है। गोरखपुर के मंडलीय शिक्षक नेता शिवमूर्ति राय ने बताया कि अफसरों की अनदेखी से शिक्षकों को परेशानी हो रही है।

जूनियर हो जाएंगे एलटी ग्रेड शिक्षक, प्रमोशन टला Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।