बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 14, 2016

खुशखबरीः दस लाख बेरोजगार पाएंगे रोजगारपरक प्रशिक्षण

कानपुर,अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआईसीटीई) से मान्यता पाने वाले इंजीनियरिंग और मैनेजमेंट कालेजों के अलावा पॉलिटेक्निक कालेजों की मदद से देश के 10 लाख युवाओं को रोजगारपरक ट्रेनिंग दी जाएगी।

यूपी, उत्तराखंड और बिहार के तीन लाख युवाओं को ट्रेनिंग मिलेगी। यह प्रोजेक्ट अगले तीन शैक्षिक सत्र (2016-17, 2017-18 और 2018-19) का है। ट्रेनिंग की अधिकतम समय सीमा 250 घंटे है।

एआईसीटीई के क्षेत्रीय अधिकारी डॉ. मनोज तिवारी बताते हैं कि ट्रेनिंग देने वाले कॉलेजों के नाम इसी सप्ताह फाइनल हो जाएंगे। इसका मसौदा एनएसडीसी को भेजा जा चुका है। स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग इसी शैक्षिक सत्र (2016-17) से शुरू होगी। एआईसीटीई के माध्यम से देश के 10 लाख युवाओं का कौशल विकास किया जाना है।

तीन राज्यों के 175 कॉलेज तैयार 
स्किल डेवलपमेंट की ट्रेनिंग देने के लिए 175 कॉलेजों ने आवेदन फार्म भरे हैं। स्टेट स्टेयरिंग कमेटी ने सबके नाम नेशनल स्किल डेवलपमेंट काउंसिल (एनएसडीसी) को भेज दिए हैं। ट्रेनिंग देने वाले कॉलेजों के नाम इसी सप्ताह फाइनल होंगे। सबसे ज्यादा 110 कॉलेज यूपी के हैं। उत्तराखंड के 36 और बिहार के 29 कॉलेज संचालकों ने ट्रेनिंग देने की इच्छा जताई है।

नि:शुल्क प्रशिक्षण
पढ़ाई बीच में छोड़ने वालों (ड्राप आउट) को नि:शुल्क ट्रेनिंग मिलेगी। इसके लिए उम्र की कोई सीमा नहीं तय है। सबको सर्टिफिकेट भी दिया जाएगा।

रोजगार मिलेगा
स्किल डेवलपमेंट का कोर्स रोजगार परक है। जो स्टूडेंट ट्रेनिंग लेंगे, उन्हें प्लेसमेंट दिलाने की जिम्मेदारी कॉलेज, एआईसीटीई और एनएसडीसी को दी गई है। इस प्रोजेक्ट से औद्योगिक इकाइयों को भी जोड़ा जा रहा है।

कॉलेज उपलब्ध कराएंगे सुविधा-संसाधन
रोजगार परक ट्रेनिंग की पूरी व्यवस्था, सुविधा और संसाधन कॉलेज प्रशासन को उपलब्ध कराना है। फंडिंग का काम एआईसीटीई करेगा।

प्रति प्रशिक्षणार्थी और उसके प्रतिघंटे की ट्रेनिंग के हिसाब से कॉलेज प्रशासन को 40 रुपये 50 पैसे दिए जाएंगे। अलग से मानदेय नहीं मिलेगा। एक कॉलेज को एक बार में अधिकतम 100 लोगों को ट्रेनिंग देने का लक्ष्य है।

इन कोर्सों का प्रशिक्षण सिविल इंजीनियरिंग, मेकेनिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग, इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग, कंप्यूटर साइंस एंड इंजीनियरिंग, इनफारमेशन टेक्नोलॉजी, मैटेरियल साइंस एंड मेटलर्जिकल इंजीनियरिंग, फैशन डिजाइनिंग, एडवांस डिप्लोमा, कंप्यूटर सहित अन्य।

खुशखबरीः दस लाख बेरोजगार पाएंगे रोजगारपरक प्रशिक्षण Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।