बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

बेसिक शिक्षा परिषद के अंतर्गत विद्यालयों के लिए वर्ष 2018 की आधिकारिक अवकाश तालिका जारी : Download Official Holiday List

सितंबर 16, 2016

7वां वेतन देने से पहले छठे वेतन की कमियां को करें दूर

लखनऊ,
सातवां वेतन देने से पहले छठे वेतन की कमियां दूर करने की मांग जोर पकड़ रही है। कर्मचारी संगठन आंदोलन कर रहे हैं। 20 सितंबर की हड़ताल की व्यापक तैयारी की जा रही है।

इसके लिए कर्मचारी शिक्षक संयुक्त मोर्चा ने शुक्रवार को मोटर साइकिल रैली निकाली। यह रैली सभी कार्यालयों में घूमेगी।

संयुक्त मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष वीपी मिश्र का कहना है कि 20 सितंबर की हड़ताल के पीछे भी छठे वेतनमान की वेतन विसंगतियां हैं जो अभी तक दूर नहीं की गई हैं।

मुख्य सचिव कमेटी द्वारा लेखा एवं आडिट संवर्ग, लैब टेक्नीशियन, डिप्लोमा फार्मासिस्ट, निगमों, रोडवेज, निकाय व विकास प्राधिकरण कर्मचारियों आदि के मामले लटकाए जाने के बाद संयुक्त मोर्चा हड़ताल को विवश हुआ है। कई निगमों में अभी तक चौथा और पांचवा वेतन ही मिल रहा है। वहां के कर्मचारी इस महंगाई में छठे वेतन के लिए तरस रहे हैं।

मोर्चा के प्रवक्ता सुशील बच्चा ने बताया कि नए मुख्य सचिव राहुल भटनागर से मुलाकात में प्रदेश अध्यक्ष वीपी मिश्र, संयोजक सतीश पांडेय और निकाय कर्मचारी महासंघ के अध्यक्ष शशि मिश्रा आदि नेताओं ने कहा कि अब आश्वासन से काम नहीं चलेगा। बिना शासनादेश के वे नहीं मानेंगे। आश्वासन बहुत मिल चुके हैं, लेकिन पूरे नहीं किए गए हैं।

मुख्य सचिव ने कर्मचारी नेताओं को आश्वासन दिया कि वे उनकी मांगों को पूरा करने का रास्ता निकालेंगे, लेकिन मोर्चा नेताओं का कहना है कि नए मुख्य सचिव के सकारात्मक रुख के बावजूद हड़ताल की उनकी पूरी तैयारी है।

गुरुवार को जहां विद्युत सुरक्षा निदेशालय पर गेट मीटिंग की गई वहीं शुक्रवार को जवाहर भवन से मोटर साइकिल रैली निकाली जाएगी। यह रैली हड़ताल के प्रति राजधानी स्थित सभी कार्यालयों में कर्मचारियों को जागरुक करेगी

7वां वेतन देने से पहले छठे वेतन की कमियां को करें दूर Rating: 4.5 Diposkan Oleh: Agrima Singh

वैधानिक चेतावनी

इस ब्लॉग/वेबसाइट की सभी खबरें व शासनादेश सोशल मीडिया से ली गई हैं । कृपया खबरों / शासनादेशों का प्रयोग करने से पहले वैधानिक पुष्टि अवश्य कर लें | इसमें ब्लॉग एडमिन की कोई जिम्मेदारी नहीं है | पाठक खबरों के प्रयोग हेतु खुद जिम्मेदार होगा | किसी भी वाद - विवाद की स्थिति में उच्च न्यायालय इलाहाबाद का अंतिम निर्णय मान्य होगा ।